पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX52344.450.04 %
  • NIFTY15683.35-0.05 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47122-0.57 %
  • SILVER(MCX 1 KG)68675-1.23 %
  • Business News
  • India Slips 12 Places To 55th In Home Price Index, Home Prices Fall 1.6% In A Year

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

घरों की कीमतें लगातार घटने का असर:होम प्राइस इंडेक्स में भारत 12 स्थान फिसलकर 55वें स्थान पर पहुंचा, सालभर में घरों की कीमतें 1.6% घटी

मुंबई10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

घरों की कीमतों में लगातार गिरावट से 2021 की पहली तिमाही में होम प्राइस इंडेक्स में शामिल सभी देशों में भारत 55वें स्थान पर आ गया है। ग्लोबल प्रॉपर्टी कंसल्टेंट नाइट फ्रैंक की रिपोर्ट के मुताबिक 2020 की पहली तिमाही में भारत का स्थान 43वां था। इस लिहाज से भारत 12 पायदान फिसल गया है। इंडेक्स में दुनियाभर के 56 देशों को शामिल किया गया।

भारत में घरों की कीमतें 1.6% बढ़ी
रिपोर्ट के मुताबिक सालाना आधार पर घरों की कीमतें 1.6% घटी हैं। वहीं, 2020 की तीसरी तिमाही से 2021 की पहली तिमाही के बीच में घरों की कीमतें 0.6% बढ़ी। इसी तरह 2020 की चौथी तिमाही से 2021 की पहली तिमाही के दौरान घरों की कीमतें 1.4% बढ़ी।

अमेरिका में घरों की महंगाई से 16 साल का रिकॉर्ड टूटा
पूरे इंडेक्स में घरों की कीमतों में बढ़त के लिहाज से अमेरिका फोकस में रहा। क्योंकि यहां घरों की कीमतें सालभर पहले की तुलना में 13.2% महंगा हुआ है। सालभर में इतनी बड़ी महंगाई आखिरी बार 2005 में देखने को मिली थी।

इंडेक्स में लगातार 5वीं बार टर्की सबसे आगे
हालांकि, सालाना आधार पर घरों की महंगाई के मामले में टर्की ने लगातार पांचवीं बार सबको पीछे छोड़ा। इंडेक्स में टर्की सबसे ऊपर है। यहां घरों की कीमतें 32% महंगा हुआ। इसी तरह न्यूजीलैंड में 22.1% और लक्जमबर्ग में 16.6% महंगा हुआ है। इंडेक्स में स्पेन सबसे नीचे रहा, जहां घरों की कीमतें पिछले साल से 1.8% घटा है।

2006 के बाद पहली बार सबसे तेजी से बढ़ी घरों की कीमतें
रिपोर्ट के मुताबिक पूरे 56 देशों और टेरीटरीज में 2021 की पहली तिमाही के दौरान मेनस्ट्रीम रेजिडेंशियल प्राइसेज औसतन 7.3% बढ़ी है। यह 2006 की चौथी तिमाही के बाद प्राइसेज में अब तक का सबसे तेज बढ़ोतरी है। नाइट फ्रैंक की इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि सर्वे में शामिल 7% यानी चार देशों में घरों की कीमतें घटी है। वहीं 2021 की पहली तिमाही के दौरान शामिल 56 में 13 देशों की कीमतों में डबल डिजिट ग्रोथ दर्ज की गई।

खबरें और भी हैं...