पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX48690.8-0.96 %
  • NIFTY14696.5-1.04 %
  • GOLD(MCX 10 GM)475690 %
  • SILVER(MCX 1 KG)698750 %
  • Business News
  • Home Loan ; SBI Home Loan ; Loan ; Banking ; Joint Home Loan Will Solve This Problem Of Yours, Know Here Why It Is More Beneficial For You

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नहीं मिल पा रहा है होम लोन:जॉइंट होम लोन आपकी इस समस्या को करेगा हल, यहां जानें क्यों है ये आपके लिए ज्यादा फायदेमंद

नई दिल्ली17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कई बार देखा जाता है कि आप होम लोन के लिए अप्लाई करते हैं लेकिन आपकी प्रोफाइल नहीं न होने के कारण आपकी लोन एप्लीकेशन रिजेक्ट हो जाती है। ऐसे में ज्वाइंट होम लोन आपकी इस परेशानी का हल कर सकता है। ज्वाइंट होम लोन के लिए अप्लाई करने से आपके लोन के अप्रूव होने के चांस बढ़ जाते हैं। इसकी वजह यह है कि जॉइंट लोन में कर्ज चुकाने की जिम्मेदारी दो या अधिक व्यक्ति पर आ जाती है, जिससे लोन के डूबने का खतरा कम हो जाता है। हम आपको ज्वाइंट होम लोन से जुड़ी खास बातें बता रहे हैं।

आसानी से मिलता है लोन
कई बार कम इनकम, कर्ज और आय का अनुपात (सही फिक्स ऑब्लिगेशन टू इनकम रेश्यो) या सही क्रेडिट स्कोर न होने के कारण लोन लेने में परेशानी का सामना करना पड़ता है। ऐसी स्थिति में किसी दूसरे व्यक्ति को आवेदक के तौर पर अपने साथ जोड़कर लोन लेने के लिए योग्यता में इजाफा होता है।

जब आप एक ऐसे व्यक्ति के साथ मिलकर ज्वॉइंट होम लोन लेते हैं, जिसका क्रेडिट स्कोर मजबूत है और उसकी भुगतान करने की क्षमता अच्छी है, तो लोन लेने में आसानी रहती है। इसके अलावा ज्वाइंट होम लोन लेने पर आपको ज्यादा लोन मिल सकता है, क्योंकि बैंक दोनों आवेदकों की इनकम को ध्यान में रखकर लोन देगा।

मिलती है ज्यादा इनकम टैक्स छूट
ज्यादातर घर खरीदारों को होम लोन पर इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80C और 24b के भीतर मिलने वाले टैक्स बेनीफिट की जानकारी होती है। लोन लेने वाला व्यक्ति सेक्शन 24b के तहत ब्याज को हर साल 2 लाख रुपए तक डिडक्शन की तरह ले सकता है जबकि प्रिंसिपल अमाउंट पर सेक्शन 80C के भीतर साल में अधिकतम 1.5 लाख रुपए तक का डिडक्शन मिलता है। ज्वाइंट होम लोन के लिए आवेदन करने से दोनों कर्ज ले रहे व्यक्ति अलग-अलग इनकम टैक्स बेनीफिट का फायदा ले सकेंगे। हालांकि दोनों साथ में एप्लीकेंट के साथ मालिक भी हों, तभी वे टैक्स बेनीफिट अलग से ले सकेंगे।

अगर महिला को-एप्लीकेंट को कम ब्याज पर मिलता है लोन
बहुत से कर्जदाता महिला को-एप्लीकेंट के लिए होम लोन की अलग ब्याज दर देते हैं। ये दर आम तौर पर रेट से लगभग 0.05 फीसदी (5 बेसिस प्वॉइंट्स) कम होती है। इस छूट का फायदा लेने के लिए महिला को प्रॉपर्टी का खुद या ज्वॉइंट तौर पर मालकिन होना चाहिए। ज्यादातर बैंक महिला को को-एप्लीकेंट तभी मानते हैं, जब वह प्रॉपर्टी की मालकिन या साथ में मालकिन हो।

कौन-कौन ले सकता है जॉइंट लोन?
अगर परिवार में दो लोग कमाने वाले हैं और जो प्रॉपर्टी आपने खरीदी है, उसमें भाई-बहन को छोड़कर परिवार के अन्य सदस्यों जैसे कि मां-बेटा, मां-बेटी, पिता-बेटा, पिता-बेटी या फिर वाइफ-हसबैंड का नाम है तो बैंक आपको ज्वाइंट लोन अकाउंट खोलने के लिए कह सकता है। अधिकतर बैंक भाई-बहन के साथ ज्वाइंट होम लोन नहीं देते। जबकि माता-पिता, पति या पत्नी के साथ ज्वाइंट होम लोन आसानी से मिल जाता है।

ये बैंक कम ब्याज दर पर दे रहे लोन

बैंकब्याज दर (%)
कोटक महिंद्रा6.65
ICICI6.70
HDFC बैंक6.70
एक्सिस6.75
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया6.80
पंजाब नेशनल बैंक6.80
बैंक ऑफ बड़ौदा6.85
बैंक ऑफ इंडिया6.85
SBI6.90