पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX48690.8-0.96 %
  • NIFTY14696.5-1.04 %
  • GOLD(MCX 10 GM)475690 %
  • SILVER(MCX 1 KG)698750 %
  • Business News
  • HDFC Bank Posts 18 Pc Rise In Q4 Net Profit At Rs 8,186 Crore

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

HDFC बैंक को 8,186 करोड़ रुपए का मुनाफा:ब्याज से कमाई बढ़ने पर बैंक के प्रॉफिट में 18% का उछाल, ग्रॉस NPA में भी बढ़ोतरी

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मार्च तिमाही में बैंक की गैर-ब्याज इनकम 7,591 करोड़ रुपए रही
  • 24% की बढ़ोतरी के साथ कुल 4,693 करोड़ रुपए का प्रॉविजन

प्राइवेट सेक्टर के दिग्गज बैंक HDFC बैंक को वित्त वर्ष 2020-21 की चौथी तिमाही में 8,186.51 करोड़ रुपए का मुनाफा रहा है। एक साल पहले की समान अवधि के मुकाबले बैंक के मुनाफे में 18.17% की बढ़ोतरी हुई है। मार्च 2020 में बैंक को 6,927.69 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है। रेगुलेटरी फाइलिंग के मुताबिक, नेट इंटरेस्ट इनकम यानी ब्याज से कमाई बढ़ने के कारण प्रॉफिट में बढ़ोतरी रही है।

नेट इंटरेस्ट इनकम में 12% का उछाल

रेगुलेटरी फाइलिंग के मुताबिक, मार्च 2021 में बैंक की नेट इंटरेस्ट इनकम में 12.60% का उछाल रहा है। इस अवधि में बैंक की नेट इंटरेस्ट इनकम 17,120.15 करोड़ रुपए रही है। जबकि नॉन-इंटरेस्ट इनकम यानी गैर ब्याज कमाई 25.88% बढ़कर 7,591.91 करोड़ रुपए रही है। बैंक ने इस तिमाही के लिए प्रॉविजन को 24.02% बढ़ाकर 4,693.70 करोड़ कर दिया है। वित्त वर्ष 2020-21 में बैंक की कंसोलिडेटिड इनकम 1,55,885.28 करोड़ रुपए रही है। एक साल पहले समान अवधि में बैंक की कंसोलिडेटिड इनकम 1,47,068.28 करोड़ रुपए रही थी।

ग्रॉस NPA में 19% की बढ़ोतरी

बैंक के ग्रॉस नॉन परफॉर्मिंग असेट्स (NPA) या बैड लोन में 19% की बढ़ोतरी हुई है। मार्च 2021 तिमाही में बैंक का ग्रॉस NPA 15,086 करोड़ रुपए रहा है। जबकि एक साल पहले समान अवधि में यह 12,649.97 करोड़ रुपए रहा था। बीती तिमाही में बैंक का नेट NPA भी 28% बढ़कर 4,554.82 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले समान अवधि में नेट NPA 3,542.36 करोड़ रुपए था। कुल लोन के मुकाबले ग्रॉस NPA पिछले साल के 1.26% से बढ़कर 1.32% पर पहुंच गया है।

एडवांस में 14% का उछाल

रेगुलेटरी फाइलिंग के मुताबिक, मार्च 2021 तिमाही में बैंक का एडवांस यानी कुल लोन में 14% की ग्रोथ रही है और यह बढ़कर 11.33 लाख करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले समान अवधि में बैंक का एडवांस 9.93 लाख करोड़ रुपए था। वहीं, इस अवधि बैंक डिपॉजिट यानी बैंक में जमा राशि 16.34% बढ़कर 13.35 लाख करोड़ रुपए रही है। एक साल पहले समान अवधि में बैंक में जमा राशि 11.47 लाख करोड़ रुपए थी।

3,36,020 ग्राहकों ने लिया कोविड-19 संबंधी रेजोल्यूशन प्लान का लाभ

कोविड-19 के प्रतिकूल प्रभाव से निपटने के लिए RBI ने लोन लेने वालों को मोरेटोरियम की सुविधा दी थी। यह सुविधा 31 अगस्त तक लागू थी। इससे पहले 6 अगस्त को RBI ने लोन लेने वालों को राहत देने के लिए रेजोल्यूशन प्लान जारी किया था। रेगुलेटरी फाइलिंग के मुताबिक, HDFC बैंक के 3,36,020 ग्राहकों ने इस कोविड संबंधी रेजोल्यूशन प्लान का लाभ लिया था। इसमें 2,87,487, पर्सनल लोन, 1,453 कॉरपोरेट लोन, 64 MSME और 47,080 अन्य लोन ग्राहक शामिल हैं।

कोरोना महामारी के कारण फाइनेंशियल मार्केट में दिखा उतार-चढ़ाव

बैंक ने रेगुलेटरी फाइलिंग में कहा है कि पिछले साल कोरोना महामारी के चलते फैली अफरा-तफरी , ग्राहकों के व्यवहार में बदलाव, कारोबारी और व्यक्तिगत गतिविधियों पर कोरोना से निपटने के लिए लगाए जाने वाले प्रतिबंधों की वजह से ग्लोबल और भारतीय फाइनेंशियल मार्केट में भारी उतार-चढ़ाव देखने को मिला। इस दौरान आई मंदी की वजह से कर्ज की मात्रा, थर्ड पार्टी प्रोडक्ट्स की बिक्री, ग्राहकों की तरफ से क्रेडिट कार्ड के उपयोग और कर्ज की वसूली जैसी गतिविधियों पर प्रतिकूल असर पड़ा है। जिसकी वजह से आगे हमें ग्राहकों की तरफ से होने वाले डिफॉल्ट की संख्या में बढ़त देखने को मिल सकती है। इस कारण बैंक को प्रॉविजन में बढ़त करनी पड़ सकती है।

पिछले साल नए डिजिटल प्रोडक्ट लॉन्च करने पर लगी थी रोक

पिछले साल HDFC बैंक की नेट बैंकिंग सेवा कई बार फेल हो गई थी। इस कारण RBI ने बैंक पर नए डिजिटल प्रोडक्ट लॉन्च करने पर रोक लगा दी थी। इस रोक के चलते बैंक नए क्रेडिट कार्ड समेत दूसरे डिजिटल प्रोडक्ट लॉन्च नहीं कर पाया था। इसका असर बैंक के कारोबार पर भी दिखा है और बीती तिमाही में बैंक का मुनाफा उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा है। कई एनालिस्ट ने मार्च 2021 तिमाही में HDFC बैंक के मुनाफे में 22% तक की बढ़ोतरी की उम्मीद जताई थी।