पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX52816.30.5 %
  • NIFTY15879.550.43 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48134-1.51 %
  • SILVER(MCX 1 KG)71385-1.31 %
  • Business News
  • MSME ; Corona ; Government Working On Plan To Generate 5 Crore Jobs In MSME Sector: Nitin Gadkari

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अर्थव्यवस्था:MSME क्षेत्र में 5 करोड़ रोजगार पैदा करने की योजना पर काम कर रही सरकार: नितिन गडकरी

नई दिल्ली6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • केंद्रीय मंत्री गडकरी ने होरासिस एशिया मीटिंग 2020 की बैठक में ये बात बताई
  • सरकार का उद्देश्य आर्थिक विकास में MSME के योगदान को 30% से 40% तक बढ़ाना है

सरकार सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग (MSME) क्षेत्र में 5 करोड़ रोजगार उपलब्ध कराने की प्लानिंग पर काम कर रही हैं। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने पहली बार हुई वर्चुअल 2020 होरासिस एशिया की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि "सरकार केवल MSME क्षेत्रों से 5 करोड़ अधिक रोजगार के अवसर पैदा करने की योजना बना रही है। आने वाले सालों में, भारत दुनिया में शीर्ष ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरिंग केंद्र बन जाएगा। उन्होंने कहा कि चीन की तुलना में, भारत में विकास की अधिक संभावनाएं हैं।

इसका उद्देश्य आर्थिक विकास में MSME के योगदान को बढ़ाना है
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि, कच्चे माल की उपलब्धता, यंग मेनपॉवर और केंद्र और राज्य सरकारों की अनुकूल नीतियां भारत को निवेश करने के लिए एक पसंदीदा जगह बना रही है। होरासिस एशिया मीटिंग 2020 के दौरान MSME क्षेत्र के लिए केंद्र सरकार की योजना को आगे बढ़ाते हुए, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि, भारत सरकार का उद्देश्य आर्थिक विकास में MSME के योगदान को 30% से 40% तक बढ़ाना है। इसका लक्ष्य MSME निर्यात को 48% से बढ़ाकर 60% तक बढ़ाना भी है।

क्यों हुई ये मीटिंग?
एशिया और दुनिया से 400 से अधिक प्रमुख राजनीतिक नेताओं और कारोबारी होरासिस एशिया मीटिंग 2020 के दौरान इकट्ठे हुए ताकि राजनीतिक, आर्थिक और सामाजिक समस्याओं को दूर करने के तरीकों पर चर्चा की जा सके जो कि कोविड -19 महामारी के कारण पैदा हुई हैं।

सफल रही मीटिंग: होरासिस के अध्यक्ष, फ्रैंक-जर्गन रिचर
होरासिस के अध्यक्ष, फ्रैंक-जर्गन रिचर ने यह बताया कि, यह बैठक सफलता रही। इसमें 400 वक्ताओं ने भाग लिया जिसमें वियतनाम, भारत, फिलीपींस, थाईलैंड, इंडोनेशिया, हांगकांग के मंत्रियों के साथ-साथ दुनिया भर के उद्योगों के कई प्रमुख कारोबारी शामिल थे। उन्होंने कहा कि, बैठक के दौरान प्रतिभागियों ने सार्वजनिक-निजी भागीदारी की भावना में सहयोग करने के लिए अपनी सहमति जताई है। एशिया इस महामारी के दौर में भी प्रगति कर रहा है और अपनी अर्थव्यवस्थाओं को भी इस दौरान अधिक टिकाऊ और लचीला बना रहा है।