• Home
  • Government will give 20 thousand crore rupees to MSMEs facing financial crisis, loan period will be 10 years but interest will have to be paid for 7 years only.

राहत /आर्थिक संकट का सामना कर रही एमएसएमई को सरकार देगी 20 हजार करोड़ रुपए, लोन की अवधि 10 साल की होगी पर ब्याज 7 साल तक ही देना होगा

प्रमोटर्स को कंपनी में 15 प्रतिशत हिस्सेदारी या 75 लाख रुपए के बराबर की क्रेडिट दी जाएगी। इसमें से जो कम होगा उसे ही माना जाएगा प्रमोटर्स को कंपनी में 15 प्रतिशत हिस्सेदारी या 75 लाख रुपए के बराबर की क्रेडिट दी जाएगी। इसमें से जो कम होगा उसे ही माना जाएगा

  • पहले सात साल तक कर्ज पर ब्याज भरना होगा, बाद में तीन साल केवल प्रिंसिपल राशि ही भरनी होगी
  • 31 मार्च 2018 तक खातों को रेगुलर ऑपरेट करने और एनपीए को इस कर्ज के लिए पैमाना माना जाएगा

मनी भास्कर

Aug 19,2020 04:51:31 PM IST

मुंबई. केंद्र सरकार ने देश के लघु छोटे एवं मझोले उद्योगों की मदद के लिए 20 हजार करोड़ रुपए देने का निर्णय लिया है। यह राशि बैंकों द्वारा कर्ज के रूप में दी जाएगी। इस कर्ज की अवधि 10 साल की होगी लेकिन ब्याज सात साल तक ही लगेगा। यह राशि आत्मनिर्भर भारत अभियान पैकेज के तहत दी जाएगी। 10 साल की अवधि 31 मार्च 2021 के आधार पर गिनी जाएगी।

सरकार चार हजार करोड़ की गारंटी देगी

पहले सात साल तक इस कर्ज पर मोराटोरियम होगा। यानी सात साल तक आप ब्याज भरेंगे और इसके तीन साल बाद आपको केवल मूलधन भरना होगा। इस राशि को केंद्र सरकार की क्रेडिट गारंटी स्कीम फॉर सबोर्डिनेट डेट (सीजीएसएसडी) के तहत एमएसएमई को दी जाएगी। इसके लिए सरकार सीजीटीएमएसई को चार हजार करोड़ रुपए देगी। इसमें 90 प्रतिशत गारंटी सीजीटीएमएसई कवर करेगा जबकि 10 प्रतिशत गारंटी की जिम्मेदारी प्रमोटर्स की होगी।

पर्सनल लोन भी मिल सकता है

इस योजना का लाभ उन एमएसएमई को मिलेगा जिनका बैंक खाता 31 मार्च 2018 तक रेगुलर ऑपरेट होता रहा है। वित्त वर्ष 2019 और 2020 के एनपीए को इसका पैमाना माना जाएगा। योजना के तहत एमएसएमई यूनिट्स के प्रमोटर्स को पर्सनल लोन भी मिल सकता है। इसके तहत प्रमोटर्स को कंपनी में 15 प्रतिशत हिस्सेदारी या 75 लाख रुपए के बराबर की क्रेडिट दी जाएगी। इसमें से जो कम होगा उसे ही माना जाएगा।

X
प्रमोटर्स को कंपनी में 15 प्रतिशत हिस्सेदारी या 75 लाख रुपए के बराबर की क्रेडिट दी जाएगी। इसमें से जो कम होगा उसे ही माना जाएगाप्रमोटर्स को कंपनी में 15 प्रतिशत हिस्सेदारी या 75 लाख रुपए के बराबर की क्रेडिट दी जाएगी। इसमें से जो कम होगा उसे ही माना जाएगा

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.