पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गूगल स्ट्रीट व्यू भारत में लॉन्च:स्पीड लिमिट, सड़क पर चल रहे काम की जानकारी मिलेगी; जानिए किस सिटी में पहले मिलेगा फायदा

नई दिल्ली18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गूगल ने भारत में भी गूगल स्ट्रीट व्यू फीचर लॉन्च कर दिया है। लोग अब घर बैठे ही लैंडमार्क का पता लगा पाएंगे और किसी भी प्लेस या रेस्तरां का एक्सपीरिएंस कर सकेंगे। गूगल मैप अब लोकल ट्रैफिक पुलिस की मदद से स्पीड लिमिट, किसी रोड के बंद होने और उसमें चल रहे काम की जानकारी और बेहतर ट्रैफिक लाइट दिखाने में भी मदद करेगा। इस फीचर का इंतजार बहुत लंबे समय से हो रहा था। कंपनी ने करीब 15 साल पहले ही इसे अमेरिका में लॉन्च कर दिया था।

टेक महिंद्रा से की पार्टनरशिप
गूगल स्ट्रीट व्यू फीचर को कंपनी ने एडवांस मैपिंग सॉल्यूशंस कंपनी जेनेसिस इंटरनेशनल और डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन, कंसल्टिंग और बिजनेस री-इंजीनियरिंग सर्विस और सॉल्यूशन की लीडिंग कंपनी टेक महिंद्रा के साथ साझेदारी में है।

बेंगलुरु में सबसे पहले मिलेगा
आज से स्ट्रीट व्यू गूगल मैप केवल बेंगलुरु में मिलेगा। इसके बाद यह फीचर हैदराबाद और बाद में कोलकाता में जारी किया जाएगा। इसके कुछ ही समय बाद स्ट्रीट व्यू को चेन्नई, दिल्ली, मुंबई, पुणे, नासिक, वडोदरा, अहमदनगर और अमृतसर सहित भारत के दूसरे शहरों में रोल आउट किया जाएगा।

गूगल स्ट्रीट व्यू फीचर इस्तेमाल करने की प्रोसेस
इस फीचर को एक्सेस करना काफी आसान है। गूगल मैप्स ऐप ओपन करने की जरूरत होगी, इनमें से किसी भी टारगेट शहर में एक सड़क पर जूम इन करें और उस एरिया को टैप करें, जिसे आप देखना चाहते हैं। लोकल कैफे और कल्चरल हॉटस्पॉट सेंटर या आसपास के लोकल एरिया के बारे में जान सकते हैं। यह फीचर लोगों को देश और दुनिया के व्यू और सटीक तरीके से नेविगेट करने और एक्सप्लोर करने में मदद करेगा, जिससे वे अपने फोन या कंप्यूटर से पूरी तरह से एक्सपीरिएंस कर सकेंगे।

क्या है गूगल स्ट्रीट व्यू फीचर
गूगल स्ट्रीट व्यू एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जो गूगल मैप्स और गूगल अर्थ ऐप के जरिये दुनिया की कई सड़कों पर स्थित स्थानों से इंटरैक्टिव पैनोरमा देती है। इसे पहली बार 2007 में अमेरिका के कई शहरों में लॉन्च किया गया था और तब से दुनिया भर के शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों को शामिल करने के लिए इसका विस्तार किया जा रहा है। गूगल मैप्स में जिन सड़कों की फोटो मिल चुकी हैं उन सड़कों को ब्लू लाइन के रूप में दिखाया जाता है।