पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Gold Silver Price 24 January Update; Sona Chandi Ka Rate Per Gram Kya Hai In India Mumbai Delhi

सोना फिर ऑल टाइम हाई:57 हजार 362 रुपए पर पहुंचा, साल के आखिर तक 64 हजार रुपए तक जा सकती है कीमत

नई दिल्ली11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

साल के पहले महीने यानी जनवरी में सोने की चमक लगातार बढ़ रही है और इसी का नतीजा है कि ये लगातार कीमत के कीर्तिमान बना रहा है। आज मंगलवार को सोने ने फिर नया ऑल टाइम हाई बनाया है। इंडिया बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन (IBJA) की वेबसाइट के मुताबिक 24 जनवरी को सर्राफा बाजार में सोना 312 रुपए महंगा होकर 57 हजार 362 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया है। इससे पहले सोने ने 20 जनवरी को हाई बनाया था, जो 57 हजार 50 रुपए था।

जनवरी में अब तक 2400 रुपए से ज्यादा महंगा हुआ सोना
जनवरी महीने में अब तक सोना 2,427 रुपए महंगा हो चुका है। इस महीने की शुरुआत में ये 54 हजार 935 रुपए पर था, जो अब 57 हजार 362 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया है। साल के आखिर तक यह 64 हजार तक जा सकता है।

चांदी में आज गिरावट
चांदी की बात करें तो इसकी कीमत में आज गिरावट देखने को मिली है। सर्राफा बाजार में ये 267 रुपए कमजोर होकर 68 हजार 6 रुपए प्रति किलोग्राम पर आ गई है। 23 जनवरी को ये 68 हजार 273 हजार पर थी।

2023 में 64,000 रुपए तक जा सकता है सोने का दाम
आर्थिक अनिश्चितता के बीच RBI जैसे दुनियाभर के केंद्रीय बैंकों ने सोने का भंडार बढ़ाया है। केडिया एडवाइजरी के डायरेक्टर अजय केडिया के मुताबिक केंद्रीय बैंकों की तरफ सोने की खरीदारी बढ़ना सकारात्मक संकेत है। इससे सोने की कीमतों को सपोर्ट मिलेगा। अजय केडिया ने कहा कि 2023 के आखिर तक सोना 64,000 रुपए तक पहुंच सकता है।

जेवर खरीदने के मामले में दुनिया में दूसरे नंबर पर भारतीय
चीन (673 टन सालाना) के बाद दुनिया में सबसे ज्यादा सोने के जेवर भारत (611 टन सालाना) में ही खरीदे जाते हैं। वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल की ताजा रिपोर्ट में ये आंकड़े सामने आए हैं। इसके मुताबिक भारत में जेवरातों की बिक्री में सबसे ज्यादा 60% हिस्सेदारी चूड़ियों और चेन की है।

इस लिस्ट में नेकलेस भले ही 15-20% के साथ पीछे हो, लेकिन वजन के मामले में यह सबसे आगे है। चूड़ियों और चेन का वजन अधिकांश 10 से 15 ग्राम रहता है, वहीं ज्यादातर नेकलेस 30 से 60 ग्राम के होते हैं। औसतन 3 से 7 ग्राम तक में बनने वाली ईयरिंग्स और अंगूठियों की बाजार हिस्सेदारी 10-20% है।