पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX48690.8-0.96 %
  • NIFTY14696.5-1.04 %
  • GOLD(MCX 10 GM)475690 %
  • SILVER(MCX 1 KG)698750 %
  • Business News
  • Gold Import Increased 470% In March Due To Decrease In Duty And Price, This May Increase Pressure On The Rupee

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आयात में वृद्धि:ड्यूटी और कीमत घटने से गोल्ड इंपोर्ट मार्च में 470% बढ़ा, इससे रुपए पर बढ़ सकता है दबाव

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश में गोल्ड की खपत बढी है। इस साल मार्च में गोल्ड इंपोर्ट में 471% की बढ़त दर्ज की गई। यह करीब 160 टन रही। गुरुवार को इसकी जानकारी न्यूज वेबसाइट रॉयटर्स ने दी।

सोने का भाव लगातार घटा
इंपोर्ट बढ़ने की दो खास वजह है। एक तो फरवरी में सरकार ने गोल्ड इंपोर्ट ड्यूटी में कटौती कर 10.75% कर दिया, जो पहले 12.5% था। इसके अलावा सोने का भाव लगातार घटा। पिछले साल अगस्त में 56,200 रुपए प्रति 10 ग्राम के दाम पर पहुंच गया था। यह अब तक का सबसे ऊंचा दाम है। जबकि मार्च 2021 में सोना एक साल के सबसे निचले भाव 43,320 रुपए पर आ गया था। बता दें कि भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा गोल्ड खरीदार है।

इंपोर्ट बढ़ने से रुपए हो सकता है कमजोर
गोल्ड इंपोर्ट बढ़ने से भारत का ट्रेड डेफिसिट बढ़ सकता है और डॉलर के मुकाबले रुपए की कीमत घटने की संभावना है। सूत्रों के मुताबिक मार्च तिमाही में रिकॉर्ड 321 टन का इंपोर्ट हुआ, जो पिछले साल की समान अवधि में 124 टन रहा था। अगर वैल्यू के लिहाज से बात करें तो मार्च में इंपोर्ट बढ़कर 61.53 हजार करोड़ रुपए का रहा, जो सालभर पहले 9 हजार करोड़ रुपए से थोड़ा ज्यादा था।

प्रीमियम पर बिका था सोना
ज्वैलरी कारोबार से जुड़े कारोबारियों ने बताया कि डिमांड बढ़ने से पूरे महीने सोना प्रीमियम पर बिका। इस दौरान एक औंस पर 6 डॉलर तक का प्रीमियम वसूला गया। हालांकि कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इसकी मांग में कमी देखने को मिल सकती है। क्योंकि देश में कोरोना के मामले लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में सरकार नए प्रतिबंध लगा सकती है।

लगातार बढ़ रहा कोरोना, सोने की कीमत और हो सकती है कम
गुरुवार को 81,398 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई, 50,384 मरीज ठीक हुए और 468 लोगों की मौत हुई। यह आंकड़ा पिछले साल 1 अक्टूबर के बाद सबसे ज्यादा है। तब 81,785 केस आए थे। ये आंकड़े covid19india.org से लिए गए हैं।