पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX52622.36-0.29 %
  • NIFTY15802.8-0.42 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48349-0.2 %
  • SILVER(MCX 1 KG)715020.37 %
  • Business News
  • Toll Plaza, Toll Collection System, GPS, Nitin Gadkari, Scraping Policy

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक साल में खत्म हो जाएंगे टोल प्लाजा:केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा- GPS से होगी टोल टैक्स की वसूली, तैयार हो रहा है नया सिस्टम

नई दिल्ली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पुराने वाहनों में सरकार की ओर से मुफ्त लगाया जाएगा GPS
  • वाहन चालकों को अतिरिक्त दूरी के टोल टैक्स से मुक्ति मिलेगी

आने वाले समय में आपको सफर के दौरान टोल प्लाजा पर होने वाली समस्याओं से मुक्ति मिल जाएगी। केंद्रीय सड़क, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को संसद में कहा कि अगले एक साल मौजूदा टोल कलेक्शन सिस्टम को पूरी तरह से खत्म कर दिया जाएगा, यानी मौजूदा टोल प्लाजा हटा दिए जाएंगे। इसकी जगह पर टोल कलेक्शन के लिए नया सिस्टम बनाया जा रहा है।

GPS से होगी टोल टैक्स की वसूली
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मौजूदा टोल कलेक्शन की व्यवस्था को खत्म करके ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (GPS) के जरिए टोल टैक्स वसूला जाएगा। इसके तहत वाहन जितने किलोमीटर तक हाईवे का प्रयोग करेगा, उतने किलोमीटर के लिए ही टोल टैक्स की वसूली की जाएगी। हाईवे पर चढ़ने और उतरने की रिकॉर्डिंग GPS के जरिए दर्ज की जाएगी।

इसे इस उदाहरण से समझ सकते हैं
यदि कोई वाहन चालक एक पॉइंट से हाईवे पर चढ़ने के बाद 35 किलोमीटर की यात्रा करके हाईवे छोड़ता है तो उससे केवल 35 किलोमीटर के लिए ही टोल टैक्स वसूला जाएगा। मौजूदा व्यवस्था में प्रत्येक 60 किलोमीटर पर टोल टोल प्लाजा स्थित है और वाहन चालकों को कम से कम 60 किलोमीटर के लिए टोल टैक्स देना पड़ता है।

पुराने वाहनों में मुफ्त लगाया जाएगा GPS
अमरोहा से सांसद दानिश कुंवर अली के एक सवाल के जवाब में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि नए वाहनों में GPS कंपनी की ओर से लगाकर दिया जा रहा है। पुराने वाहनों में GPS की समस्या है। टोल टैक्स कलेक्शन के नए सिस्टम के लिए सरकार की ओर से पुराने वाहनों में मुफ्त GPS लगवाया जाएगा।

फास्टैग से होगी टोल टैक्स की वसूली
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि नए सिस्टम में टोल टैक्स की वसूली फास्टैग के जरिए होगी। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अभी देश में करीब 93% टोल टैक्स कलेक्शन फास्टैग के जरिए हो रहा है। नकदी के जरिए टोल टैक्स देने वाले शेष 7% वाहनों को फास्टैग से जोड़ने के लिए कार्रवाई की जाएगी। एक अनुमान के मुताबिक, सरकार को टोल टैक्स से सालाना 30 हजार करोड़ रुपए मिल रहा है जिसे वो 2024 के आखिर तक एक लाख करोड़ करना चाहती है।

खबरें और भी हैं...