पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX52344.450.04 %
  • NIFTY15683.35-0.05 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47122-0.57 %
  • SILVER(MCX 1 KG)68675-1.23 %
  • Business News
  • Covid 19: Chinese Suppliers Increase Prices Of Covid Related Goods By Up To 5 Times, Cancel Drug Contracts

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आपदा में अवसर देखता चीन:चीनी सप्लायर्स ने कोविड से जुड़े सामान की कीमतों में 5 गुना तक वृद्धि की, दवाओं के कॉन्ट्रैक्ट रद्द किए

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोविड से निपटने के लिए भारत पूरी दुनिया से सामान खरीद रहा है। - Money Bhaskar
कोविड से निपटने के लिए भारत पूरी दुनिया से सामान खरीद रहा है।
  • सरकारी उड़ानों पर रोक लगाकर चीन ने सप्लाई ब्लॉक की
  • भारत की काउंसल जनरल ने हॉन्ग कॉन्ग में विरोध जताया

देश में कोविड की दूसरी लहर चल रही है। इससे निपटने के लिए भारत पूरी दुनिया से सामान खरीद रहा है, लेकिन पड़ोसी देश चीन के सप्लायर आपदा में अवसर का लाभ उठा रहे हैं। चीनी सप्लायर्स ने कोविड की रोकथाम से जुड़े सामान की कीमतों में कई गुना वृद्धि कर दी है। हॉन्ग कॉन्ग में भारत की कौंसिल जनरल प्रियंका चौहान ने कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर चीन के सामने विरोध जताया है। चीनी अखबार साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट से बातचीत में प्रियंका चौहान ने कहा कि भारत को उम्मीद है कि कोविड-19 से लड़ाई में चीन उत्पादों की कीमतों पर नियंत्रण रखेगा।

सप्लाई चेन खुली रहनी चाहिए
प्रियंका ने कहा, 'हमें उम्मीद है कि ऐसी स्थिति में सप्लाई चेन खुली रहनी चाहिए और उत्पादों की कीमतें स्थिर बनी रहनी चाहिए।' उन्होंने कहा कि अभी सप्लाई-डिमांड का थोड़ा दबाव बना हुआ है। ऐसे में उत्पादों की कीमतों में थोड़ी स्थिरता होनी चाहिए। साथ ही सरकारी स्तर पर भी समर्थन और प्रयासों की भावना होनी चाहिए।

प्रियंका ने कहा, 'मुझे इस बारे में जानकारी नहीं है कि इस मामले में चीनी सरकार कितना प्रभाव डाल सकती है, लेकिन वे ऐसा कर सकते हैं तो यह स्वागतयोग्य है।'

आसमान पर पहुंचीं कोविड से जुड़े सामान की कीमतें
सूत्रों का कहना है कि चीनी सप्लायर्स ने कोविड से जुड़े सामानों की कीमतें आसमान पर पहुंचा दी हैं। उदाहरण के लिए- 200 डॉलर की औसत कीमत वाले 10 लीटर के ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की कीमत 1000 डॉलर पर पहुंच गई है। कई सप्लायर 1200 डॉलर में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर दे रहे हैं। हाल के दिनों में चीनी सप्लायर्स ने मनमाने ढंग से कॉन्ट्रैक्ट रद्द कर दिए हैं। कई सप्लायर 10 लीटर के कंसंट्रेटर की कीमत लेकर 5 लीटर या 8 लीटर के कंसंट्रेटर दे रहे हैं। 2020 में भी वेंटिलेटर्स की कीमत 6000 डॉलर से बढ़कर 30 हजार डॉलर पर पहुंच गई थी।

चीन ने सप्लाई कॉरिडोर ब्लॉक किए
दूसरी समस्या यह है कि चीन सरकार ने सप्लाई कॉरिडोर को ब्लॉक कर दिया है। उदाहरण के लिए- चीन सरकार ने सरकारी एयरलाइंस सिचुआन एयरलाइंस की भारत से उड़ान पर रोक लगा दी है। इस मामले को विदेश मंत्री एस जयशंकर की ओर से चीन के विदेश मंत्री के सामने उठाने की आवश्यकता है। ताकि सप्लाई की बाधा को दूर किया जा सके। चीनी सरकार ने सिचुआन एयरलाइंस की भारत के 10 शहरों से उड़ान पर रोक लगाई है।

फार्मा सप्लायर्स ने कॉन्ट्रैक्ट रद्द किए
सूत्रों के मुताबिक, चीन के फार्मा सप्लायर्स ने अचानक कॉन्ट्रैक्ट रद्द कर दिए हैं। अब चीन के फार्मा सप्लायर रेमडेसिविर और फेविपिराविर जैसे दवाओं का कच्चा माल नीलामी के जरिए दे रहे हैं। जबकि, चीन की रेड क्रॉस सोसायटी अपनी भारतीय यूनिट को दान दे रही है। चीनी दूतावास ने भी सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए कहा है कि ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भारत भेजे जा रहे हैं। चीन के अधिकारियों का कहना है कि सप्लाई लाइन खुली है और उत्पादों की कीमतें स्थिर हैं।

देश में कोरोना महामारी आंकड़ों में

  • बीते 24 घंटे में कुल नए केस आए: 3.62 लाख
  • बीते 24 घंटे में कुल मौतें: 4,128
  • बीते 24 घंटे में कुल ठीक हुए: 3.52 लाख
  • अब तक कुल संक्रमित हो चुके: 2.37 करोड़
  • अब तक ठीक हुए: 1.97 करोड़
  • अब तक कुल मौतें: 2.57 लाख
  • अभी इलाज करा रहे मरीजों की कुल संख्या: 37.22 लाख
खबरें और भी हैं...