पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57858.150.64 %
  • NIFTY17277.950.75 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486870.08 %
  • SILVER(MCX 1 KG)63687-1.21 %
  • Business News
  • China World Richest Country; Wealth Increased 16 Times In 20 Years

चीन बना दुनिया का सबसे अमीर देश:अमेरिका को पछाड़ा; 20 साल में दुनिया की संपत्ति 3 गुना पर चीन की संपत्ति 16 गुना बढ़ी

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दुनिया की महाशक्ति माने जाने वाले अमेरिका को पछाड़कर चीन सबसे अमीर देश बन गया है। दुनियाभर के देशों की बैलेंस शीट पर नजर रखने वाली मैनेजमेंट कंसल्टेंट मैकिन्जे एंड कंपनी की रिसर्च ब्रांच की रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले 20 साल में दुनिया की संपत्ति 3 गुना बढ़ी है। लेकिन इस बढ़ोतरी में चीन की हिस्‍सेदारी एक-तिहाई यानी लगभग 33% है यानी चीन की संपत्ति करीब 16 गुना बढ़ी है।

रिपोर्ट के अनुसार, साल 2000 में दुनिया की कुल संपत्ति 156 खरब डॉलर थी, जो 2 दशक बाद यानी साल 2020 के बाद बढ़कर 514 खरब डॉलर हो गई। वहीं, 2000 में चीन की कुल संपत्ति 7 खरब डॉलर थी, जो साल 2020 में तेजी से बढ़कर 120 खरब डॉलर पहुंच गई है।

दोगुनी हुई अमेरिका की संपत्ति
अमेरिका की संपत्ति बीते 20 साल में बढ़कर दोगुनी हो गई है। साल 2020 में अमेरिकी संपत्ति 90 खरब डॉलर पर पहुंच गई है। रिपोर्ट का कहना है कि यहां प्रॉपर्टी के दामों में बहुत ज्यादा वृद्धि न होने से अमेरिकी की संपत्ति चीन के मुकाबले कम रही और वह अपना नंबर एक का स्थान गंवा बैठा।

चीन और अमेरिका के धन का बड़ा हिस्‍सा कुछ लोगों तक सीमित
रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन और अमेरिका के धन का बहुत बड़ा हिस्‍सा कुछ अमीर लोगों तक ही सीमित है। रिपोर्ट के मुताबिक, इन दोनों देशों में 10% आबादी के पास सबसे ज्यादा धन है। रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि इन देशों में अमीरों की तादाद तेजी से बढ़ रही है, जिसके कारण अमीर और गरीब देशों के बीच बड़ा अंतर देखने को मिल रहा है।

कुल संपत्ति का 68% हिस्सा अचल संपत्ति के रूप में
रिपोर्ट में बताया गया है कि कुल वैश्विक संपत्ति का 68% हिस्सा अचल संपत्ति के रूप में मौजूद है, जबकि बाकी संपत्ति में बुनियादी ढांचा, मशीनरी और उपकरण जैसी चीजें शामिल हैं।

भारत के मुकाबले चीन की नेटवर्थ 8 गुना से भी ज्यादा
क्रेडिट सुइस की ग्लोबल वेल्थ रिपोर्ट के मुताबिक, अक्टूबर 2019 में इंडिया की नेटवर्थ 12.6 खरब डॉलर पर थी। जो चीन की नेटवर्थ 120 खरब डॉलर के मुकाबले 8 गुना से भी कम है। हालांकि 2019 के बाद से भारत की नेटवर्थ के बारे में जानकारी नहीं दी गई है।