पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX48696.60.01 %
  • NIFTY14749.40.36 %
  • GOLD(MCX 10 GM)475690 %
  • SILVER(MCX 1 KG)698750 %

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इकोनॉमी और रेवेन्यू दोनों का लॉस:अप्रैल में 6.25 लाख करोड़ का बिजनेस लॉस, व्यापारी संगठन कैट ने दिया अनुमान

10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • केंद्र और राज्य सरकारों को लगभग 75 हजार करोड़ के राजस्व का नुकसान होने के आसार
  • खुदरा व्यापार में 4.25 लाख करोड़ और थोक व्यापार में 2 लाख करोड़ के घाटे का अनुमान
  • बढ़ते कोविड के चलते कैट के राष्ट्रीय महासचिव ने देशव्यापी लॉकडाउन लगाने की अपील की

कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने कोविड के चलते अप्रैल में देश भर में 6.25 लाख करोड़ रुपए के बिजनेस का लॉस होने का अनुमान जताया है। इस व्यापारी संगठन के मुताबिक, महामारी के चलते केंद्र और राज्य सरकारों को भी लगभग 75 हजार करोड़ के राजस्व का नुकसान होने के आसार हैं।

प्रधानमंत्री से तुरंत देशव्यापी लॉकडाउन लगाने की अपील
कैट के राष्ट्रीय महासचिव प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि कोरोना के बचाव के नियमों का सही पालन नहीं होने के चलते महामारी तेजी से बढ़ रही है। उन्होंने कोविड से लोगों की जान के साथ अर्थव्यवस्था और व्यापार को हो रहे भारी नुकसान को देखते हुए सरकार से सख्त कदम उठाने की अपील की है। उन्होंने प्रधानमंत्री से तुरंत देशव्यापी लॉकडाउन लगाने का अनुरोध किया है।

खुदरा व्यापार को 4.25 लाख करोड़ का बिजनेस लॉस

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने आज कहा कि अप्रैल में कुल 6.25 लाख करोड़ रुपए का बिजनेस लॉस होने के आसार हैं। दोनों व्यापारी नेताओं के मुताबिक, 4.25 लाख करोड़ रुपए के बिजनेस का लॉस खुदरा व्यापारियों जबकि लगभग 2 लाख करोड़ रुपये का नुकसान थोक व्यापारियों को होने का अनुमान है।

दिल्ली के व्यापारी संगठनों ने एक हफ्ता बाजार बंद रखने का फैसला किया था

दस दिन पहले दिल्ली के 100 से अधिक बड़े व्यापारी संगठनों ने सोमवार 26 अप्रैल से 2 मई तक एक हफ्ता स्वेच्छा से बाजार बंद रखने का फैसला किया था। उन्होंने यह कदम कोरोना के चलते राजधानी में बढ़े संकट और चिकित्सा सुविधाओं की चरमराई स्थिति को देखते हुए उठाया था।

खबरें और भी हैं...