पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX52574.460.44 %
  • NIFTY15746.50.4 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47005-0.25 %
  • SILVER(MCX 1 KG)67877-1.16 %
  • Business News
  • Budget 2021 BSE NSE Sensex Today, Stock Market Latest Update: February 1 Share Market, Trade BSE, Nifty, Sensex Live News Updates

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शेयर मार्केट में बहार:बजट के दिन सेंसेक्स में 24 साल की सबसे बड़ी उछाल, इंडेक्स 2314 अंक ऊपर बंद

मुंबई5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सोमवार को संसद में मोदी के कार्यकाल का 9वां बजट पेश किया गया। बजट के दिन बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का सेंसेक्स 2314.84 अंकों यानी 5% की बढ़त के साथ 48,600.61 पर बंद हुआ। निफ्टी भी 646.60 अंकों यानी 4.74% की बढ़त के साथ 14,281.20 पर बंद हुआ। बजट के दिन बाजार में इतनी बड़ी तेजी आखिरी बार 1997 में देखने को मिली थी, जब सेंसेक्स 6% ऊपर बंद हुआ था।

केआर चौकसी के एमडी देवेन चौकसी ने कहा कि बाजार में तेजी की सबसे पहली वजह किसी तरह का टैक्स लागू नहीं करना है। इसके अलावा सरकारी बैंकों के शेयरों में आज इसलिए तेजी देखी गई, क्योंकि सरकार ने 20 हजार करोड़ रुपए का ऐलान किया है। साथ ही बैड बैंक और इंफ्रा सेक्टर के लिए डेवलपमेंट फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन शुरु करने की बात कही गई है। इससे बैंकों के भारी-भरकम बुरे फंसे कर्ज (एनपीए) में 3 लाख करोड़ रुपए की कमी आ सकती है। इंफ्रा में भारी निवेश होगा।

एक्सचेंज पर 62% शेयरों में तेजी

BSE पर 3,129 शेयरों में कारोबार हुआ। 1,947 शेयरों में तेजी और 981 में गिरावट रही। यानी एक्सचेंज पर 62% शेयरों में बढ़त रही। लिस्टेड कंपनियों का कुल मार्केट कैप बढ़कर 192.62 लाख करोड़ रुपए हो गया है, जो शुक्रवार को 186.13 लाख करोड़ रुपए था। बाजार की रिकॉर्ड तेजी में बैंकिंग शेयर सबसे आगे रहे। निफ्टी बैंक इंडेक्स 8.81% की बढ़त के साथ 33,257 पर बंद हुआ। यह इंडेक्स का ऑलटाइम हाई लेवल भी है। इससे पहले बाजार लगातार 6 सत्रों से गिरावट के साथ बंद हो रहा था।

निवेशकों को फाइनेंशियल और इंफ्रा सेक्टर में निवेश की सलाह

SMC ग्लोबल सिक्योरिटीज की सीनियर रिसर्च एनलिस्ट सीमा श्रीवास्तव ने कहा कि इस बार का बजट बैलेंस रहा। वित्त मंत्री ने कोई भी नया टैक्स नहीं लगाया। इससे बाजार में तेजी रही, जिसकी शुरुआत ऑटो स्क्रैपेज पॉलिसी के ऐलान के बाद हुई। कुल मिलाकर बजट पॉजिटिव रहा, जिससे शेयर बाजार में तेजी रही।

उन्होंने कहा कि निवेशकों को कैपिटल गुड्स सेक्टर से L&T, फाइनेंशियल सेक्टर में सरकारी बैंक और इंफ्रा सेक्टर में शोभा रियल्टी, DLF शेयरों पर फोकस रखना चाहिए।

सेक्टोरल तेजी में ऑटो और रियल्टी शेयर भी आगे

इसी तरह स्क्रैपेज पॉलिसी की खबर से ऑटो शेयरों में अच्छी बढ़त दर्ज की गई। निफ्टी ऑटो इंडेक्स 4.23% ऊपर बंद हुआ है। किफायती घर खरीदने वालों को लोन के इंटरेस्ट पेमेंट पर टैक्स डिडक्शन में 1.5 लाख रुपए की एक्स्ट्रा छूट का समय एक साल और बढ़ा है। खबर से रियल्टी शेयर दौड़ गए। निफ्टी रियल्टी इंडेक्स 6.31% ऊपर बंद हुआ है। इसमें DLF का शेयर 10.16% ऊपर बंद हुआ है। इसी तरह मेटल और सरकारी बैंकिंग शेयरों में भी रैली देखने को मिली।

नीचे दिए गए ग्राफिक्स से समझिए शेयर बाजार और कमोडिटी का हाल ...

गोल्ड के लिए सेबी होगा रेगुलेटर

बजट में सरकार ने गोल्ड और सिल्वर की इंपोर्ट ड्यूटी को 12.5% से 7.5% करने का प्रस्ताव रखा है। सरकार ने दोनों कमोडिटीज के इंपोर्ट पर 2.5% एग्री इंफ्रा सेस लगाने की भी बात कही है। इसके चलते टाइटन का शेयर 5.47%, मणप्पुरम फाइनेंस का शेयर 5.51% और मुथूट फाइनेंस का शेयर 4.48% की बढ़त के साथ बंद हुआ है। सरकार सिक्युरिटीज मार्केट कोड लेकर आएगी। इसमें सेबी एक्ट, गवर्मेंट सिक्युरिटीज एक्ट और डिपॉजिटरीज एक्ट को शामिल किया जाएगा। सेबी सोने का भी रेगुलेटर होगा।

बीमा शेयरों में 9% की तेजी

सरकार इंश्योरेंस एक्ट,1938 में संशोधन करेगी। इसके तहत बीमा कंपनियों में FDI सीमा 49% से बढ़ाकर 74% करने का ऐलान किया गया है। इससे पहले मार्च 2016 में बीमा कंपनियों में FDI 26% से बढ़ाकर 49% किया गया था। न्यू इंडिया अश्योरेंस कंपनी का शेयर 8.94%, HDFC लाइफ का शेयर 3.14%, SBI लाइफ का शेयर 1.20% और ICICI प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस का शेयर 1.90% ऊपर बंद हुए हैं।

गैस कंपनियों के शेयरों में तेजी

वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन के तहत देश के 100 अन्य शहरों को जोड़ेगी। इससे इंद्रप्रस्थ गैस का शेयर 3.59% और महानगर गैस का शेयर 2.28% ऊपर बंद हुआ है।

फिक्की के अध्यक्ष उदय शंकर ने कहा कि बुरी तरह प्रभावित अर्थव्यवस्था के बावजूद सरकार ने किसी भी तरह के नए टैक्स का ऐलान नहीं किया। यह दर्शाता है कि सरकार ने बजट में सभी सेक्टर्स का ख्याल रखा है। हालांकि, बजट में नए सेस की बात जरूर कही गई है।

TIW प्राइवेट इक्विटी के चीफ इन्वेस्टमेंट ऑफिसर मोहित राल्हन ने कहा कि इस साल का बजट अर्थव्यवस्था में सुधार के लक्ष्य से तैयार किया गया है। खास बात यह है कि इसमें सरकार ने किसी भी प्रकार के नए टैक्स की घोषणा नहीं की है।

मजबूत घरेलू संकेत का भी असर

शेयर बाजार की शानदार रैली को अच्छे बजट के साथ-साथ मजबूत घरेलू संकेतों का भी सहारा मिला। भारत का मैन्युफैक्चरिंग पर्चेजिंग मैनेजिंग इंडेक्स (PMI) जनवरी में तीन महीने के उच्चतम स्तर 57.7 पर पहुंच गया, जो दिसंबर में 56.4 रहा था। इसके अलावा दिसंबर में जीएसटी कलेक्शन भी 1.20 लाख करोड़ रुपए के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया।

अमेरिकी बाजारों में भारी गिरावट

सोमवार को ग्लोबल सेंटीमेंट काफी उतार-चढ़ाव वाला रहा। जापान का निक्केई 1.50% और हॉन्गकॉन्ग का हेंगसेंग 2% ऊपर बंद हुआ। इसी तरह कोरिया का कॉस्पी इंडेक्स में 2.70% की बढ़त के साथ बंद हुआ। ऑस्ट्रेलिया के ऑल ऑर्डिनरीज इंडेक्स में 1% तक की बढ़त है। इससे पहले अमेरिकी और यूरोपियन मार्केट में भारी गिरावट दर्ज की गई थी।

रविवार को डाओ जोंस, नैस्डैक, S&P 500 इंडेक्स में 2% से ज्यादा की गिरावट के साथ बंद हुए थे। इसी तरह ब्रिटेन का FTSE, फ्रांस का CAC और जर्मनी DAX इंडेक्स में भी 2% तक की गिरावट रही।