पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX48832.030.06 %
  • NIFTY14617.850.25 %
  • GOLD(MCX 10 GM)470210.83 %
  • SILVER(MCX 1 KG)689701.52 %
  • Business News
  • Best Mutual Funds To Invest; Axis Tripple, Hdfc And Icici Prudential Multi Asset

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

म्यूचुअल फंड की मल्टी असेट स्कीम का रिटर्न:आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल फंड की मल्टी स्कीम का 1 साल में 61.6% रिटर्न, SIP से मिला फायदा

मुंबई10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भारतीय शेयर बाजार पिछले 1 साल में तेजी से बढ़ा है। यह इस समय दोगुने बढ़त के साथ कारोबार कर रहा है। इस दौरान म्यूचुअल फंड की मल्टी असेट स्कीम ने 61 पर्सेंट तक का रिटर्न दिया है - Money Bhaskar
भारतीय शेयर बाजार पिछले 1 साल में तेजी से बढ़ा है। यह इस समय दोगुने बढ़त के साथ कारोबार कर रहा है। इस दौरान म्यूचुअल फंड की मल्टी असेट स्कीम ने 61 पर्सेंट तक का रिटर्न दिया है
  • लंबी अवधि में एसआईपी का निवेश आपको करोड़पति बना सकता है
  • महीने का 10 हजार रुपए का निवेश 18 साल में 1.30 करोड़ हो गया

अगर आप एक अच्छे निवेशक हैं तो आपको रेगुलर निवेश करते रहना चाहिए। आप चाहें तो सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) के जरिए इसे कर सकते हैं। लंबी अवधि में यही निवेश आपको करोड़पति बना सकता है। 18 सालों तक अगर आपने 10 हजार रुपए महीने का SIP किया होता तो अब तक आप का यह निवेश 1.30 करोड़ रुपए हो जाता है। जबकि आपका कुल निवेश 22 लाख रुपए का होता।

1 साल में 61.6 पर्सेंट का रिटर्न

आंकड़े बताते हैं कि 5 अप्रैल के आधार पर आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल मल्टी असेट फंड ने 1 साल में 61.6% का रिटर्न दिया है। जबकि इसी समय में एचडीएफसी मल्टी असेट फंड ने 55% और एक्सिस ट्रिपल एडवांटेज फंड ने 53% का रिटर्न दिया है। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल मल्टी असेट फंड को 2002 में लांच किया गया था।

10 से 80 पर्सेंट निवेश इक्विटी में

आंकड़ों के मुताबिक, मल्टी असेट फंड 10 से 80% तक हिस्सा इक्विटी में निवेश करते हैं। जबकि डेट में 10 से 35 और गोल्ड ETF में 10 से 35 और रिट तथा इनविट में 0 से 10% निवेश करते हैं। इस तरह की रणनीति इसलिए बनाई जाती है ताकि तमाम असेट क्लासेस में निवेश कर निवेशकों को फायदा पहुंचाया जाए। इसमें इक्विटी में निवेश से फायदा मिलता है और गोल्ड तथा अन्य के जरिए स्थिरता मिलती है।

आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल की स्कीम टॉप पर

इस कैटिगरी में आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल टॉप प्रदर्शन करने वालों में से है। एक साल के आधार पर इस कैटिगरी ने 42.44% का रिटर्न दिया है। 3 साल में आईसीआईसीआई मल्टी फंड ने 10.04 और 5 साल में 14.8% का रिटर्न दिया है। जबकि एचडीएफसी ने 5 साल में 9.82 और एक्सिस ट्रिपल ने 5 साल में 11% का रिटर्न दिया है।

2002 से एनएवी 34 गुना बढ़ी

आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल के मल्टी असेट की बात करें तो स्थापना के समय यानी 2002 से इस स्कीम की नेट असेट वैल्यू (NAV) 34 गुना बढ़ी है। इस स्कीम ने कभी भी निगेटिव रिटर्न नहीं दिया है। यह स्कीम लॉर्ज, मिड और स्मॉल कैप में निवेश कर सकती है। यह स्कीम उस समय इक्विटी में निवेश को कम कर सकती है, जब इक्विटी का वैल्यूएशन महंगा होता है। जब वैल्यूएशन सस्ता होता है तो उसमें यह निवेश बढ़ा सकती है।

कमोडिटी में भी निवेश करती है यह स्कीम

इक्विटी के महंगे होने पर यह स्कीम ऑयल, गोल्ड, चांदी जैसी कमोडिटी में अपना निवेश बढ़ा देती है ताकि पोर्टफोलियो का रिटर्न अच्छा रहे। इस समय यह स्कीम इक्विटी में ज्यादा निवेश की है क्योंकि अर्थव्यवस्था में रिकवरी दिख रही है। 31 मार्च 2021 तक इसका इक्विटी में निवेश 77.7% रहा है। यह इसकी अंतिम सीमा 80% के करीब है। पिछले कुछ महीनों से यह पोर्टफोलियो वैल्यू थीम की ओर अपना झुकाव बनाए रखी है। आगे चलकर यह इसी तरह का पालन कर सकती है। इस स्कीम के चार प्रमुख सेक्टर्स में बैंक, पावर, टेलीकॉम और मेटल्स हैं।

तेजी से बढ़ा है भारतीय बाजार

भारतीय शेयर बाजार पिछले 1 साल में तेजी से बढ़ा है। यह इस समय दोगुने बढ़त के साथ कारोबार कर रहा है। इस समय इक्विटी कै वैल्यूएशन सस्ता नहीं है। आगे चलकर काफी कुछ अर्थव्यवस्था पर निर्भर है जिसमें महंगाई, ब्याज दरें, वैक्सीन का रोल आउट, वैश्विक केंद्रीय बैंकों के फैसले आदि हैं। डेट की बात करें तो ब्याज दरें निकट समय में नीचे की ओर ही रह सकती हैं। ऐसे में डेट एक असेट क्लास के रूप में औसत रिटर्न दे सकता है।

खबरें और भी हैं...