पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Anil Ambani | Anil Ambani Reliance Capital Board Dismissed By RBI

रिजर्व बैंक के कब्जे में अनिल अंबानी की कंपनी:रिलायंस कैपिटल का बोर्ड खारिज, बैंक ऑफ महाराष्ट्र के पूर्व ED बने नए प्रशासक

मुंबई6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कैपिटल के बोर्ड को भारतीय रिजर्व बैंक ने खारिज कर दिया है। बैंक ऑफ महाराष्ट्र के पूर्व कार्यकारी निदेशक नागेश्वर राव को नया प्रशासक बनाया गया है। आज कंपनी का शेयर 4.99% लोअर सर्किट के साथ 19.05 रुपए बंद हुआ। लोअर सर्किट मतलब एक दिन में उससे ज्यादा गिरावट नहीं आ सकती।

कंपनी के बोर्ड में अनिल अंबानी, राहुल सरीन, छाया विरानी, थॉमस मैथ्यू और धनंजय तिवारी सहित अन्य लोग हैं।

ब्याज का पेमेंट देने में फेल रही कंपनी

रिलायंस कैपिटल ने 27 नवंबर को स्टॉक एक्सचेंज को जानकारी दी थी। इसने कहा था कि वह एक्सिस बैंक और HDFC के 624 करोड़ रुपए के लोन का ब्याज देने में फेल रही। यह ब्याज उसे 31 अक्टूबर तक देना था। HDFC का 4.77 करोड़ रुपए और एक्सिस बैंक का 71 लाख रुपए का ब्याज देना था। HDFC को 10.6 और 13% का ब्याज देना है जबकि एक्सिस बैंक को 8.25% का ब्याज देना था। अप्रैल 2021 में कंपनी ने कहा था कि वह नॉन कनवर्टिबल डिबेंचर का ब्याज नहीं दे पाई है। यह ब्याज 22 अप्रैल को चुकाना था।

रिजर्व बैंक ने दी जानकारी

रिजर्व बैंक ने एक बयान में सोमवार को यह जानकारी दी। रिजर्व बैंक ने कहा कि रिलायंस कैपिटल तमाम उधारी देने वालों का पेमेंट देने में फेल रही। साथ ही इसमें ढेर सारे कॉर्पोरेट गवर्नेंस के मामले भी सामने आए हैं जो कि चिंताजनक हैं। रिजर्व बैंक ने कहा कि कॉर्पोरेट गवर्नेंस का मामला काफी गंभीर है, जिसे अनदेखा नहीं किया जा सकता है। जून 2019 में कंपनी के ऑडिटर्स ने कंपनी की चौथी तिमाही के रिजल्ट को लेकर ढेर सारे सवाल खड़े किए थे। इसमें अकाउंटिंग के तरीके पर भी सवाल उठाया गया था।

रिलायंस कैपिटल उधारी देने वाली तीसरी ऐसी नॉन बैंक कंपनी है, जिसे इंसॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड के तहत दिवालिया प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इससे पहले दिवान हाउसिंग फाइनेंस कंपनी और श्रेई के खिलाफ ऐसी कार्रवाई की गई थी।

2018 के बाद से रिजल्ट जारी नहीं किया कंपनी ने

रिलायंस कैपिटल ने दिसंबर 2018 के बाद अपना फाइनेंशियल रिजल्ट जारी नहीं किया है। दिसंबर 2018 में इसका रेवेन्यू 568 करोड़ रुपए था जबकि शुद्ध फायदा 89 करोड़ रुपए था। इसमें प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 1.51% है। जनता के पास 97.85% हिस्सेदारी है। प्रमोटर्स में अनिल अंबानी के पास 11.06 लाख शेयर्स, टीना अंबानी के पास 2.63 लाख शेयर्स, जय अनमोल अंबानी के पास 1.78 लाख शेयर्स और जय अंशुल के पास 1.78 लाख शेयर्स हैं। कोकिलाबेन अंबानी के पास 5.45 लाख शेयर्स हैं। अनिल अंबानी के दो बेटे जय अनमोल और जय अंशुल हैं।