पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • After Acquisition Gautam Adani Led Ambuja Cements Rallies 8.5% And ACC Rise 2.05%

अंबुजा-ACC के स्टॉक्स में तेजी:अडाणी के अधिग्रहण के बाद 9% भागा अंबुजा सीमेंट का शेयर, ACC का स्टॉक 1.09% चढ़ा

15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सीमेंट कंपनी अंबुजा और ACC के शेयरों में कारोबारी सप्ताह के पहले दिन यानी सोमवार को (19 सितंबर) तेजी देखने को मिली। अंबुजा का शेयर 45 रुपए यानी करीब 9% की बढ़त के साथ 564 रुपए पर बंद हुआ। वहीं ACC का शेयर 28 रुपए यानी 1.09% बढ़कर 2,63 रुपए पर बंद हुआ।

अडाणी के अधिग्रहण के बाद भागे अंबुजा-ACC के शेयर्स
एशिया के सबसे अमीर आदमी गौतम अडाणी के अंबुजा और ACC का अधिग्रहण करने के बाद से इन दोनों कंपनियों के शेयरों में यह तेजी आई है। 5 महीने पहले मई में गौतम अडाणी ने अंबुजा और ACC के साथ डील साइन की थी। इस डील के बाद से ही दोनों कंपनियों के शेयरों में लगातार तेजी देखने को मिली है।

अंबुजा ने पिछले 6 महीने में दिया 85.25% रिटर्न
अंबुजा ने पिछले छह महीने में अपने इन्वेस्टर्स को 85.25% और ACC ने 28.42% रिटर्न दिया है। अंबुजा सीमेंट का शेयर आज कारोबार के दौरान अपने न्यू 52-वीक हाई को टच कर चुका है। इसके साथ ही स्टॉक ने 16 सितंबर को अपने प्रीवियस हाई को पार कर लिया है। अडाणी ग्रुप के होलसिम के साथ समझौता के बाद अंबुजा और ACC दोनों स्टॉक लाइमलाइट में आए थे।

6.5 अरब डॉलर में किया अंबुजा-ACC का अधिग्रहण
गौतम अडाणी ने 2 दिन पहले (16 सितंबर) अंबुजा और ACC का अधिग्रहण पूरा किया था। अडाणी ग्रुप ने अंबुजा और ACC सीमेंट का 6.5 अरब डॉलर यानी 51.79 हजार करोड़ में यह टेकओवर किया। इस टेकओवर के साथ ही अडानी ग्रुप देश का दूसरा सबसे बड़ा सीमेंट मैन्युफैक्चरर बन गया है। सीमेंट प्रोडक्शन के मामले में आदित्य बिड़ला ग्रुप का अल्ट्राटेक सीमेंट पहले नंबर पर है।

रेगुलेटरी अप्रूवल के बाद पूरी हुई डील
रेगुलेटरी अप्रूवल के बाद ये डील पूरी हुई थी। अंबुजा सीमेंट के लिए ओपन ऑफर प्राइस 385 रुपए प्रति शेयर और ACC के लिए ये 2300 रुपए प्रति शेयर था। होलसिम की अंबुजा सीमेंट, ACC में स्टेक और ओपन ऑफर कंसीडरेशन की वैल्यू 6.5 अरब डॉलर थी। अडाणी ग्रुप की ये डील भारत के इंफ्रा और मटेरियल्स स्पेस में सबसे बड़ा अधिग्रहण है।

वारंट्स के जरिए 20 हजार करोड़ जुटाएगा ग्रुप
अंबुजा सीमेंट्स के बोर्ड ने अडाणी ग्रुप की प्रमोटर एंटिटी को प्रेफरेंशियल अलॉटमेंट के कन्वर्टिबल वारंट्स को भी मंजूरी दे दी थी। इसके जरिए ग्रुप अतिरिक्त 20 हजार करोड़ रुपए जुटाएगा। ग्रुप इस फंड का उपयोग सीमेंट प्रोडक्शन कैपेसिटी को बढ़ाने के लिए करेगी, जिससे उसका 2030 तक भारत की सबसे बड़ी सीमेंट कंपनी बनने का लक्ष्य पूरा हो सके।

ACC के चेयरमैन बने करण अडाणी
गौतम अडाणी के बड़े बेटे करण अडाणी सीमेंट कारोबार की कमान संभालेंगे। सूत्रों के मुताबिक, गौतम अडाणी अंबुजा सीमेंट के चेयरमैन बने हैं। वहीं 35 साल के करण अडाणी को इसका नॉन एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर बनाया है। इसके अलावा करण को ACC का चेयरमैन और नॉन एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर भी नियुक्त किया गया है। बता दें कि करण फिलहाल अडाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड (APSEZ) के CEO हैं।

होलसिम का था ACC-अंबुजा पर मालिकाना हक
ACC यानी एसोसिएटेड सीमेंट कंपनीज और अंबुजा पर मालिकाना हक होलसिम कंपनी का था। यह स्विट्जरलैंड की बिल्डिंग मटेरियल कंपनी है। ACC की शुरुआत 1 अगस्त 1936 को मुंबई से की गई थी। उस समय कई ग्रुप्स ने मिलकर इसकी नींव रखी थी। अंबुजा सीमेंट की स्थापना 1983 में नरोत्तम सेखसरिया और सुरेश नियोतिया ने की थी।

17 साल का कारोबार समेटेगी होलसिम
होलसिम कंपनी ने भारत में 17 साल पहले कारोबार शुरू किया था। यह दुनिया की सबसे बड़ी सीमेंट कंपनी मानी जाती है। इस डील के बाद अब कंपनी भारत से अपना बिजनेस समेटेगी। होलसिम ग्रुप की देश में दो सीमेंट कंपनियों अंबुजा सीमेंट और ACC लिमिटेड में हिस्सेदारी थी।

अंबुजा सीमेंट में होल्डरइंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड के जरिए होलसिम की 63.19% और ACC में 54.53% की हिस्सेदारी थी (जिसमें से 50.05% अंबुजा सीमेंट्स के जरिए थी)। अब अडानी ग्रुप ने अंबुजा सीमेंट और ACC में होल्सिम की पूरी हिस्सेदारी खरीद ली है।

शानदार मैन्युफैक्चरिंग और सप्लाई चेन इंफ्रास्ट्रक्चर
अंबुजा सीमेंट्स और ACC के पास वर्तमान में 70 MTPA (मिलियन टन पर एनम) की कंबाइंड इंस्टॉल्ड प्रोडक्शन कैपेसिटी है। दोनों कंपनियां भारत में सबसे मजबूत ब्रांडों में से शामिल हैं, जिनके पास बेहतरीन मैन्युफैक्चरिंग और सप्लाई चेन इंफ्रास्ट्रक्चर है। उनके 23 सीमेंट प्लांट, 14 ग्राइंडिंग स्टेशन्स, 80 रेडी-मिक्स कंक्रीट प्लांट और पूरे भारत में 50,000 से ज्यादा चैनल पार्टनर हैं। वहीं आदित्य बिड़ला ग्रुप की अल्ट्रा टेक सीमेंट देश की सबसे बड़ी कंपनी है। इसकी सालाना क्षमता 119 मिलियन मीट्रिक टन है।

खबरें और भी हैं...