पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Adani Group Stocks Share Price Update; Adani Power Locked In An Upper Circuit

फिर लौटे अडाणी ग्रुप के शेयर्स के दिन:अडाणी ट्रांसमिशन, अडाणी गैस और अडाणी पावर में लग रहा है अपर सर्किट,1 महीने में निवेशकों को 40% तक का फायदा मिला

मुंबई10 महीने पहलेलेखक: अजीत सिंह
  • कॉपी लिंक

अडाणी ग्रुप की कंपनियों के शेयर्स में फिर लगातार तेजी दिख रही है। ग्रुप की 2 कंपनियों के शेयर्स में 5 दिनों से अपर सर्किट लग रहा है। जबकि अडाणी पावर में 2 दिनों से अपर सर्किट लग रहा है। तीनों कंपनियों में अपर सर्किट की सीमा 5% तय की गई है।

अपर सर्किट मतलब एक दिन में उससे ज्यादा कीमत नहीं बढ़ सकती

अपर सर्किट का मतलब एक दिन में शेयरों की कीमतें उससे ज्यादा नहीं बढ़ सकती हैं। अडाणी टोटल गैस का शेयर इस हफ्ते में 1,045 रुपए से बढ़कर 1,294 रुपए पर पहुंच गया है। इसमें 5% की बढ़त हर रोज रही है। इसका एक साल का हाई 1,680 रुपए रहा है। अडाणी ट्रांसमिशन का शेयर भी 1,016 रुपए से बढ़कर 1,365 रुपए पर पहुंच गया है। इसमें भी 5% की बढ़त हर रोज रही है।

अडाणी पावर के शेयर्स में भी अपर सर्किट

दो दिनों से अडाणी पावर का शेयर भी अपर सर्किट के साथ बंद हो रहा है। आज इसका भाव 85 रुपए है। इस हफ्ते के शुरू में 69 रुपए पर यह शेयर था। वैसे एक महीने में देखें तो ग्रुप के सभी शेयर निवेशकों को अच्छा फायदा दिए हैं। अडाणी टोटल गैस के शेयर की कीमत 843 रुपए से बढ़कर 1,294 रुपए हो गई है। जबकि अडाणी एंटरप्राइज के शेयर का भाव 1,362 से बढ़कर 1,494 रुपए हो गया है।

अडाणी पोर्ट के शेयर का भाव 724 रुपए

अडाणी पोर्ट के शेयर का भाव 654 से 724 रुपए जबकि अडाणी ट्रांसमिशन का शेयर 860 रुपए से बढ़कर 1,365 रुपए हो गया है। ग्रीन एनर्जी का शेयर 860 से बढ़कर 1,050 रुपए पर पहुंच गया है। शेयर्स की कीमतों में बढ़त से कंपनियों के मार्केट कैप पर भी अच्छा असर हुआ है।

विदेशी निवेशकों के शेयर्स फ्रीज किए जाने के बाद घटा मार्केट कैप

विदेशी निवेशकों के शेयर्स को फ्रीज किए जाने की खबर से पहले अडाणी ग्रुप की कुल कंपनियों का मार्केट कैप 9.42 लाख करोड़ रुपए था। ग्रुप के शेयर्स में विदेशी कंपनियों के निवेश को फ्रीज किए जाने की 14 जून को आई। इसके बाद कंपनियों का मार्केट कैप लगातार घटता गया। 18 जून को मार्केट कैप घट कर 7.68 लाख करोड रुपए रह गया था। 14 जून को ग्रुप की तीन कंपनियों में विदेशी निवेशकों के बारे में जानकारी सामने आई थी। इसी के बाद से शेयरों में लगातार 5 दिनों तक भारी गिरावट आई थी।

12 जून को आई थी रिपोर्ट

ब्लूमबर्ग की 12 जून की एक रिपोर्ट में दावा किया गया था कि अडाणी के शेयर्स में तीन विदेशी निवेशकों का उनके कुल निवेश का 95% का निवेश है। इसलिए इन शेयर्स में जोखिम दिखता है। साथ ही इनके शेयर्स की कीमतें काफी ज्यादा बढ़ गई हैं। तीन विदेशी निवेशकों अलबुला इन्वेस्टमेंट, क्रेस्टा फंड और APMS इन्वेस्टमेंट फंड ने अडाणी एंटरप्राइज, अडाणी ग्रीन, अडाणी ट्रांसमिशन और अडाणी टोटल गैस में निवेश किया है।

विदेशी निवेशकों का कोई अता-पता नहीं

इन निवेशकों के बारे में दावा था कि इनका कोई अता-पता नहीं है। एनएसडीएल ने इनके अकाउंट को फ्रीज कर दिया है। ये मॉरीशस की राजधानी पोर्ट लुइस के एक ही पते पर रजिस्टर्ड हैं। इनके पास वेबसाइट भी नहीं है। इनका कुल निवेश 43,500 करोड़ रुपए अडाणी ग्रुप की कंपनियों में है।

अडाणी एंटरप्राइज में 6.82% हिस्सेदारी

इन निवेशकों की अडाणी एंटरप्राइज में 6.82% हिस्सेदारी है। इसका मूल्य 12,008 करोड़ रुपए है। अडाणी ट्रांसमिशन में 8.03% निवेश है और इसका मूल्य 14,112 करोड़ रुपए है। अडाणी टोटल गैस में 5.92% निवेश है। इसका मूल्य 10,578 करोड़ रुपए है। जबकि अडाणी ग्रीन एनर्जी में 3.58% का निवेश है। इसका मूल्य 6,861 करोड़ रुपए है।

प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 74.29% से ज्यादा

अडाणी एंटरप्राइजेज, अडाणी ट्रांसमिशन और अडाणी पावर में प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 74.29% से ज्यादा है। अडाणी एंटरप्राइजेज में विदेशी निवेशकों का हिस्सा 20.51%, अडाणी टोटल गैस में 21.47%, अडाणी ट्रांसमिशन में 20.30%, अडाणी ग्रीन एनर्जी में 21.47%, अडाणी पोर्ट में 17.90% और अडाणी पावर में 11.49% हिस्सा है। प्रमोटर्स की सबसे कम हिस्सेदारी अडाणी टोटल गैस और अडाणी ग्रीन एनर्जी में है जो 56.29-56.29% है।

शेयर्स ने 2 से 11 गुना का रिटर्न दिया

जून 2020 से जून 2021 के दौरान अडाणी ग्रुप के शेयर्स ने 2 से 11 गुना का रिटर्न दिया। इसमें सबसे ज्यादा रिटर्न अडाणी टोटल गैस का 11 गुना रहा। अडाणी एंटरप्राइज ने 9.50 गुना का रिटर्न दिया। ग्रुप के शेयर्स की कीमतों में बेतहाशा बढ़त से ग्रुप के मालिक गौतम अडाणी एशिया में दूसरे सबसे अमीर बिजनेसमैन बन गए थे। जबकि दुनिया में वे 14 वें सबसे अमीर बिजनेसमैन बन गए थे।

शेयर्स की कीमतों में तेजी से बढ़ी संपत्ति

शेयर्स में तेजी के कारण ही मुकेश अंबानी और गौतम अडाणी की संपत्ति लगातार बढ़ती गई। ब्लूमबर्ग बिलिनेयर्स इंडेक्स के मुताबिक जून में मुकेश अंबानी की नेटवर्थ बढ़कर 84 अरब डॉलर हो गई थी। इस लिहाज से वो दुनिया के 12वें सबसे अमीर शख्स थे। गौतम अडाणी की नेटवर्थ 77 अरब डॉलर के पार पहुंच गई थी।

कई कारण से बढ़ रही हैं शेयर्स की कीमतें

इक्विटी99 के को-फाउंडर राहुल शर्मा कहते हैं कि अडाणी टोटल गैस और अडाणी ट्रांसमिशन के शेयर 5 दिनों से लगातार अपर सर्किट को छू रहे हैं। हालांकि 1 साल के हाई से यह अभी भी काफी कम कीमत पर कारोबार कर रहे हैं। अडाणी गैस ने स्मार्ट मीटर्स टेक्नोलॉजी में 50% शेयर खरीदा है। साथ ही अडाणी ग्रुप के मैनेजमेंट ने कहा है कि वह 2021-22 में करीबन सभी सेक्टर में 10% से ज्यादा की ग्रोथ की उम्मीद कर रहा है। ट्रेड एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड अडाणी ग्रीन एनर्जी में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर 4% कर दिया है। यह जून में 1.4% थी। यही कारण है कि शेयरों में तेजी दिख रही है।