पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX60764.23-0.81 %
  • NIFTY18143.1-0.68 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47363-0.05 %
  • SILVER(MCX 1 KG)642760.82 %
  • Business News
  • Tata Consultancy Services Share Price, TCS Share Price, TCS Market Cap, Infosys Market Cap, SBI, Airtel Market Cap, Share Price Market Cap Tata, Tata Consultancy Services

एसेंचर के करीब पहुंची TCS:पहले 100 अरब डॉलर का लेवल साढ़े 13 साल में हासिल किया, दूसरे 100 अरब डॉलर को साढ़े 3 साल में टच किया

मुंबईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

टॉप IT कंपनी टाटा कंसलटेंसी सर्विसेस (TCS) बुधवार को 200 अरब डॉलर का मार्केट कैप हासिल करने वाली देश की पहली सॉफ्टवेयर कंपनी बन गई। इसे पहले 100 अरब डॉलर का लेवल छूने में साढ़े 13 साल, जबकि दूसरे 100 अरब डॉलर को टच करने में केवल साढ़े 3 साल लगे हैं।

एसेंचर का मार्केट कैप 218.5 अरब डॉलर

TCS अब ग्लोबल सॉफ्टवेयर कंपनी एसेंचर के करीब पहुंच गई है। एसेंचर का मार्केट कैप 218.5 अरब डॉलर है। TCS ने बुधवार को यह रिकॉर्ड हासिल किया। आज इसके शेयर्स में गिरावट है। इसका मार्केट कैप घटकर 198 अरब डॉलर हो गया है। TCS का शेयर बुधवार को एक साल के ऊपरी स्तर 3,981 रुपए पर पहुंचा था। आज यह 1.5% गिरावट के साथ 3,900 रुपए पर कारोबार कर रहा है। रुपए में मार्केट कैप 14.43 लाख करोड़ रुपए है। कल यह 14.65 लाख करोड़ रुपए हो गया था।

2004 में एक्सचेंज पर लिस्ट हुई थी TCS

TCS 2004 में शेयर बाजार में लिस्ट हुई थी। इसने पहली बार 100 अरब डॉलर का मार्केट कैप 2017 में टच किया था। इस तरह से इसे साढ़े 13 साल का समय 100 अरब डॉलर तक पहुंचने में लगा था। लेकिन अगले 100 अरब डॉलर का आंकड़ा इसने केवल साढ़े 3 साल में टच किया है। TCS अपने ग्लोबल ग्राहकों को सॉफ्टवेयर की एंड टू एंड सेवाएं देती है। पिछले एक साल में कोरोना की वजह से सभी सेक्टर के ग्राहकों ने टेक्नोलॉजी में अच्छा खासा निवेश किया है। यही कारण है कि IT कंपनियों के शेयर्स ने1 साल में अच्छा मुनाफा दिया है। इससे कंपनियों के मार्केट कैप भी बढ़ा है।

सैप का मार्केट कैप 169.4 अरब डॉलर

सैप का मार्केट कैप 169.4 अरब डॉलर है। IBM का मार्केट कैप 123 अरब डॉलर है। भारत की दूसरी IT कंपनी इंफोसिस पांचवें नंबर पर है। इसका मार्केट कैप 99 अरब डॉलर है। पिछले महीने ही 100 अरब डॉलर के लेवल इस कंपनी ने टच किया था। रुपए में इसका मार्केट कैप अभी 7.20 लाख करोड़ रुपए है। पिछले महीने यह 7.37 लाख करोड़ रुपए पहुंच गया था।

विप्रो छठें नंबर पर

विप्रो 50 अरब डॉलर के साथ छठें नंबर पर आती है जबकि HCL टेक 47 अरब डॉलर के साथ सातवें नंबर पर आती है। भारत की IT कंपनियों के बारे में अनुमान है कि यह कंपनियां 2021-22 के दौरान 10% से ज्यादा की ग्रोथ करने में सफल होंगी। लगातार यह कंपनियां ग्लोबल ग्राहकों के साथ डील जीत रही हैं। जून तिमाही में टॉप 5 सॉफ्टवेयर कंपनियों ने 14 अरब डॉलर की डील जीती थीं। इसमें TCS ने अकेले 8.1 अरब डॉलर की डील हासिल की थी। इंफोसिस ने 2.1 अरब डॉलर की डील हासिल की थी। HCL टेक 1.66 अरब डॉलर की डील हासिल की थी।

महंगे शेयर्स हैं, फिर भी निवेशक लगा रहे हैं दांव

विश्लेषकों का कहना है कि इस समय IT कंपनियों के शेयर भले ही महंगे हैं, फिर भी इन शेयर्स में आगे तेजी की उम्मीद दिख रही है। कम ब्याज दर के इस माहौल में महंगे वैल्यूएशंस पर भी इन स्टॉक में निवेशक दांव लगा रहे हैं। निवेशकों का मानना है कि अगले 2-3 साल तक IT के शेयर्स में अच्छी खासी तेजी रह सकती है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज पहले नंबर पर

मार्केट कैप के लिहाज से रिलायंस इंडस्ट्रीज पहले नंबर पर है। इसका मार्केट कैप 15.25 लाख करोड़ रुपए है। देश का सबसे बड़े SBI बैंक ने आज 4 लाख करोड़ रुपए के मार्केट कैप पार किया है। जबकि दूसरी सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी एयरटेल ने भी आज 4 लाख करोड़ रुपए के मार्केट कैप को पार किया है। SBI और एयरटेल दोनों के शेयर्स में आज 3-3% की तेजी है। आज BSE का सेंसेक्स 59 हजार के आंकड़े को पहली बार पार किया है।