• Home
  • Market
  • Top 10 companies have market cap of $ 848 billion, 490 companies have $ 441 billion, top companies are better in terms of returns

बाजार /टॉप 10 कंपनियों का मार्केट कैप 848 अरब डॉलर, 490 कंपनियों के पास 441 अरब डॉलर, रिटर्न के मामले में शीर्ष कंपनियां ही बेहतर

401 से 450 के बीच की कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन महज 8.9 अरब डॉलर है। ये शेयर 13.3 के पीई पर कारोबार कर रहे हैं 401 से 450 के बीच की कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन महज 8.9 अरब डॉलर है। ये शेयर 13.3 के पीई पर कारोबार कर रहे हैं

  • महंगे होने के बावजूद रिटर्न देने में आगे हैं टॉप 10 कंपनियों के शेयर
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज, टीसीएस, एचडीएफसी आदि हैं टॉप 10 क्लब में

मनी भास्कर

Jul 07,2020 03:03:57 PM IST

मुंबई. बीएसई की शीर्ष 500 कंपनियों में से टॉप 10 कंपनियों के पास 50 प्रतिशत मार्केट कैपिटलाइजेशन का हिस्सा है। जबकि 490 कंपनियों के पास इसके आधे से थोड़ा ज्यादा हिस्सा है। आंकड़ों के मुताबिक 10 कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन 848 अरब डॉलर है, जबकि 490 कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन 441 अरब डॉलर है। टॉप 10 कंपनियों के क्लब में रिलायंस इंडस्ट्रीज, टीसीएस, एचडीएफसी आदि हैं।

50-100 कंपनियों का रिटर्न 2.4 प्रतिशत रहा है

बीएसई के आंकड़ों के मुताबिक निवेशकों को रिटर्न देने के मामले में शीर्ष 10 कंपनियां ही बेहतर रही हैं। इस साल की शुरुआत से लेकर 3 जुलाई तक इन कंपनियों ने 9.6 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। जबकि अगली 50 कंपनियों का रिटर्न 2.4 प्रतिशत रहा है। इनका मार्केट कैप 198.7 अरब डॉलर रहा है। इसके बाद की सभी कंपनियों ने निवेशकों को घाटा दिया है।

टॉप 10 कंपनियों के शेयर हैं महंगे

शेयरों की बात करें तो टॉप 10 कंपनियों के शेयर 31.4 के पीई पर कारोबार कर रहे हैं। यानी यह सबसे महंगे शेयर हैं। पीई दरअसल प्राइस टू अर्निंग है। यह जितना ज्यादा होता है शेयर उतना ही महंगा होता है। इसी तरह शीर्ष 50 कंपनियों का पीई 28.7 है। यानी यह थोड़े सस्ते शेयर हैं। आंकड़े बताते हैं कि 51 से 100 तक की कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन 77.6 अरब डॉलर रहा है। इनका पीई 26 है। जबकि इस साल में इन शेयरों ने 5.7 प्रतिशत का घाटा दिया है।

101 से 150 तक के बीच की कंपनियों ने दिया घाटा

101 से 150 कंपनियों की बात करें तो इनका मार्केट कैपिटलाइजेशन 49.5 अरब डॉलर है। ये शेयर 22.9 के पीई पर कारोबार कर रहे हैं। इन्होंने निवेशकों को 1.9 प्रतिशत का घाटा दिया है। 151 से 200 कंपनियों की बात करें तो इनका कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन 30.5 अरब डॉलर है। ये 26.4 के पीई पर कारोबार कर रहे हैं। इन शेयरों ने 6.7 प्रतिशत का घाटा दिया है। 201 से 250 के बीच की कंपनियों ने 9.3 प्रतिशत का घाटा दिया है। इनका मार्केट कैपिटलाइजेशन 24.6 अरब डॉलर रहा है। ये शेयर 24.4 के पीई पर कारोबार कर रहे हैं।

251 से 300 के बीच की कंपनियों ने भी दिया घाटा

251 से 300 के बीच की कंपनियों ने 5.5 प्रतिशत का घाटा दिया है। ये 23.2 के पीई पर कारोबार कर रही हैं और इनका मार्केट कैपिटलाइजेशन 20.2 अरब डॉलर है। आंकड़े बताते हैं कि अगली 301 से 350 कंपनियों की बात करें तो इनका मार्केट कैपिटलाइजेशन महज 14.9 अरब डॉलर है और इनके शेयर 23.9 के पीई पर कारोबार कर रहे हैं। इन शेयरों ने 8.5 प्रतिशत का घाटा दिया है।

451 से 505 के बीच की कंपनियों के पास महज 5.1 अरब डॉलर मार्केट कैप

अगली 50 कंपनियां यानी 351 से 400 के बीच की कंपनियों ने 17.6 प्रतिशत का घाटा दिया है। ये शेयर 22 के पीई पर कारोबार कर रहे हैं। इनका मार्केट कैपिटलाइजेशन महज 11.8 अरब डॉलर है। इसी तरह 401 से 450 के बीच की कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन महज 8.9 अरब डॉलर है। ये शेयर 13.3 के पीई पर कारोबार कर रहे हैं। इन्होंने निवेशकों को 22.6 प्रतिशत का घाटा दिया है। जबकि 451 से 505 कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन 5.1 अरब डॉलर है। इनका पीई 13.9 है। इन्होंने 38.5 प्रतिशत का भारी भरकम घाटा निवेशकों को दिया है।

X
401 से 450 के बीच की कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन महज 8.9 अरब डॉलर है। ये शेयर 13.3 के पीई पर कारोबार कर रहे हैं401 से 450 के बीच की कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन महज 8.9 अरब डॉलर है। ये शेयर 13.3 के पीई पर कारोबार कर रहे हैं

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.