पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61716.05-0.08 %
  • NIFTY18418.75-0.32 %
  • GOLD(MCX 10 GM)473880.43 %
  • SILVER(MCX 1 KG)637561.3 %
  • Business News
  • The Company Reviews Millions Of User Content Daily, More Than 1,000 Contract Reviewers Worldwide

पढ़े जाते हैं आपके 'सिक्योर' वॉट्सऐप मैसेज:रोज लाखों यूजर कंटेंट को रिव्यू करती है पेरेंट कंपनी, दुनियाभर में हैं 1,000 से ज्यादा कॉन्ट्रैक्ट रिव्यूअर

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अगर फेसबुक कहती है, वह आपके वॉट्सऐप मैसेज नहीं देखती है, तो यह सफेद झूठ है। वह 'गलत' कंटेंट पर नजर रखने के लिए ऐसा करती है और उसने इसके लिए दुनियाभर में 1,000 से ज्यादा कॉन्ट्रैक्ट वर्कर रखे हुए हैं। यह दावा खोजी पत्रकारिता के लिए पुलित्जर पुरस्कार जीतने वाले नॉन प्रॉफिट न्यूजरूम प्रोपब्लिका ने किया है। उसके दावे को पेटीएम के फाउंडर विजय शेखर शर्मा ने रिट्वीट किया है।

स्पेशल सॉफ्टवेयर से देखते हैं प्राइवेट मैसेज, AI से स्क्रीनिंग करते हैं

प्रोपब्लिका के मुताबिक, आपके-हमारे वॉट्सऐप मैसेज पर नजर रखने वाले फेसबुक (वॉट्सऐप की पेरेंट कंपनी) के ये वर्कर उसके ऑस्टिन, टेक्सास, डब्लिन और सिंगापुर के दफ्तरों में काम करते हैं। ये प्रोफेशनल फेसबुक के स्पेशल सॉफ्टवेयर की मदद से रोज लाखों यूजर कंटेंट यानी प्राइवेट मैसेज, इमेज और वीडियो देखते हैं और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस सिस्टम के जरिए उनकी स्क्रीनिंग करते हैं।

चाइल्ड पोर्न या आतंकी साजिश के दावे पर भी मिनट भर में फैसला

ये वो कंटेंट होते हैं, जिनको वॉट्सऐप के यूजर्स अनुपयुक्त बताकर उनकी रिपोर्ट करते हैं। ये कॉन्ट्रैक्टर अपनी स्क्रीन पर दिखने वाले फ्रॉड, स्पैम, चाइल्ड पोर्न या आतंकी साजिश के दावे को लेकर एक मिनट से भी कम समय में तय करते हैं कि वह क्या है। यह सब उसके बॉस मार्क जकरबर्ग के उस बयान को एकदम झुठलाता है, जो 2018 में अमेरिकी सीनेट में दिया गया था। उन्होंने वहां कहा था कि कंपनी वॉट्सऐप के किसी कंटेंट को नहीं देखती। वह एंड टू एंड सिक्योर होता है, यानी एक बार भेजे जाने के बाद बीच में कंटेंट कोई नहीं देख सकता।

वॉट्सऐप का दुरुपयोग करने वालों की पहचान के लिए देखे जाते हैं मैसेज

जकरबर्ग के मुताबिक वॉट्सऐप के मैसेज इतने सिक्योर होते हैं कि उसको कंपनी भी नहीं देख सकती। उन्होंने 2019 के फेसबुक के प्राइवेसी फोकस्ड विजन में कहा था कि वह वॉट्सऐप के सिग्नेचर फीचर को इंस्टाग्राम और फेसबुक मैसेंजर पर अप्लाई करना चाहते हैं। वॉट्सऐप के कम्युनिकेशन डायरेक्टर कार्ल वूग का कहना है कि कॉन्ट्रैक्टर्स की टीम वॉट्सऐप के मैसेज को इसलिए देखती है ताकि उसके प्रॉडक्ट/सर्विस का दुरुपयोग करने वाले शातिरों की पहचान की जा सके।

खबरें और भी हैं...