पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX44149.72-0.25 %
  • NIFTY12968.95-0.14 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48751-0.44 %
  • SILVER(MCX 1 KG)59664-0.99 %
  • Business News
  • Biz Environment May Remain Challenging This Fiscal Due To COVID 19: TVS Motor

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

टीवीएस का अनुमान:कोविड-19 के कारण चालू वित्त वर्ष के बाकी महीनों में कारोबारी वातावरण काफी चुनौतीपूर्ण रहेगा

नई दिल्ली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टीवीएस मोटर का कहना है कि कंपनी इन हालातों पर नजर बनाए हुए हैं और उसने डीलरों-आपूर्तिकर्ताओं को लागत घटाने की सलाह दी है।
  • कोविड-19 के कारण जीडीपी, कंज्यूमर सेंटीमेंट और ऑटो इंडस्ट्री प्रभावित होगी
  • एग्रीकल्चर में अच्छी ग्रोथ से टू-व्हीलर इंडस्ट्री को रिवाइव करने में मदद मिलेगी

टीवीएस मोटर कंपनी का कहना है कि कोविड-19 के कारण चालू वित्त वर्ष के बाकी महीनों में कारोबारी वातावरण काफी चुनौतीपूर्ण रहने वाला है। हालांकि, कंपनी ने साल के अंतिम महीनों में कुछ रिवाइवल की उम्मीद जताई है। कंपनी ने अपनी वित्त वर्ष 2019-20 की एन्युअल रिपोर्ट में यह बात कही है। शेयरहोल्डर्स के साथ इस रिपोर्ट को साझा करते हुए दोपहिया वाहन निर्माता कंपनी ने कहा है कि अच्छे मानसून की बदौलत इस साल एग्रीकल्चर सेक्टर में अच्छी ग्रोथ रहेगी। इससे टू-व्हीलर इंडस्ट्री को रिवाइव करने में मदद मिलेगी।

2020-21 में अर्थव्यवस्था के सामने महत्वपूर्ण चुनौतियां

टीवीएस का कहना है कि कोविड-19 महामारी के प्रभाव के कारण वित्त वर्ष 2020-21 में अर्थव्यवस्था के सामने महत्वपूर्ण चुनौतियां होंगी। इसका नतीजा यह होगा कि फिर से खुलने के लिए तैयार आर्थिक गतिविधियों में अड़चन पैदा होगी। पब्लिक मोबिलिटी पर प्रतिबंध और अर्थव्यवस्था के कई सेक्टर पर असर के कारण जीडीपी, डिस्पोजेबल इनकम, कंज्यूमर सेंटीमेंट और ऑटो इंडस्ट्री प्रभावित होगी। कंपनी का कहना है कि इससे 2020-21 की पहली तिमाही में तेज गिरावट होगी। जिसके आने वाली तिमाही में भी रहने की संभावना है। 

नकदी को सुरक्षित बनाए रखना पसंद कर रहे हैं उपभोक्ता

अपने घरेलू कारोबार पर आर्थिक मंदी के संभावित प्रभाव पर प्रकाश डालते हुए टीवीएस मोटर ने कहा कि उपभोक्ता नौकरी के संभावित नुकसान और वेतन कटौती जैसी अप्रत्याशित घटनाओं को देखते हुए नकदी को सुरक्षित रखना पसंद कर रहे हैं। इससे गैर-जरूरी ड्यूरेबल्स की खरीदारी में देरी होगी और ऑटोमोबाइल्स समेत मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर के सामने जोखिम पैदा होगा। कंपनी का कहना है कि इससे टू-व्हीलर इंडस्ट्री में रिकवरी में देरी हो सकती है। 

डीलरों को लागत घटाने की सलाह

टीवीएस मोटर का कहना है कि कंपनी इन हालातों पर नजर बनाए हुए हैं और उसने डीलरों-आपूर्तिकर्ताओं को लागत घटाने की सलाह दी है। साथ ही डीलर्स से वर्किंग कैपिटल को बढ़ाने के लिए कहा गया है। कंपनी का कहना है कि टियर-2 और टियर-3 शहरों में वर्कफोर्स की कमी के कारण पार्ट्स की सप्लाई प्रभावित हो रही है।