• Home
  • Consumer
  • Lockdown strengthened with increasing number of customers, now grocery stores are being upgraded with better technology

संकट में अवसर /लॉकडाउन से ग्राहकों की संख्या बढ़ने के साथ मिली मजबूती, अब किराना स्टोर बेहतर टेक्नोलॉजी के साथ अपग्रेड हो रहे हैं

छोटे शहरों में 79 फीसदी और महानगरों में 50 फीसदी स्टोर मालिकों ने बताया कि अनलॉक चरणों के बाद भी उनके स्टोर में नए ग्राहक आ रहे हैं छोटे शहरों में 79 फीसदी और महानगरों में 50 फीसदी स्टोर मालिकों ने बताया कि अनलॉक चरणों के बाद भी उनके स्टोर में नए ग्राहक आ रहे हैं

  • फ़ूड और ग्रोसरी मार्केट में एक बड़ा अवसर है लेकिन खुदरा विक्रेता इस अवसर को भुना नहीं पाए
  • महामारी के कारण स्थानीय किराना स्टोर में नए सिरे से भरोसा जगा है, ग्राहक सफाई से संतुष्ट हैं

मनी भास्कर

Jul 06,2020 08:47:10 PM IST

मुंबई. सुपरमार्केट और शॉपिंग मॉल पूरी तरह से राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान बंद कर दिये गये थे। ऐसे में केवल लोकल किराना स्टोर थे जिन्होंने घरों के लिए जरूरी राशन की आपूर्ति को पूरा किया। एक न्यूज एजेंसी के अनुसार, अब हालात को देखते हुए ऐसे कई किराना स्टोर हैं जो अब बेहतर टेक्नोलॉजी के साथ खुद को अपग्रेड करने पर विचार कर रहे हैं।

हाइपर लोकल में नया भरोसा जगा

भारत के विभिन्न शहरों में एक सर्वेक्षण में यह पाया गया कि हाइपर-लोकल में एक नया भरोसा है। अब किराना स्टोर मालिक इन चुनौतीपूर्ण समय में आगे बढ़ने के लिए ऑनलाइन डिलीवरी और सप्लाई प्लेटफार्मों के साथ साझेदारी करना चाहते हैं। ईवाई इंडिया पार्टनर-कस्टमर के शशांक श्वेत ने कहा कि कोरोनावायरस महामारी के बीच किराना स्टोर्स बड़े पैमाने पर समुदाय की सर्विसिंग करने वाले स्थानीय गुमनाम नायकों के रूप में उभरे हैं।

सप्लाई मैनेजमेंट के लिए काफी प्रयास हुआ

उन्होंने कहा कि लोकल किराना स्टोर मालिकों ने संकट की बदलती मांगों को बनाए रखने और अपनी दिन-प्रतिदिन की आपूर्ति के प्रबंधन (सप्लाई मैनेजमेंंट) के लिए काफी प्रयास किए हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह से किराना स्टोर मालिकों ने डिजिटल भुगतान, ऑपरेटिंग मॉडल बदलने और टेक्नोलॉजी को गले लगाकर नए इनोवेशन और डिजिटल टेक्नोलॉजी को अपनाया है, वह बेहद सराहनीय है।

हर पांचवां किराना स्टोर मालिक ऑन लाइन प्लेटफॉर्म का उपयोग कर रहा है

सर्वेक्षण से पता चला है कि हर पांचवें किराना स्टोर मालिक ने ऑनलाइन प्लेटफार्म का उपयोग शुरू कर दिया है। इससे माल की लगातार आपूर्ति और डिलीवरी में सहायता मिल रही है। इसके अलावा, महामारी के कारण स्थानीय किराना स्टोर में नए सिरे से भरोसा जगा है। इससे वहां पर जाने वाले नए ग्राहकों में वृद्धि हुई। इसके साथ छोटे शहरों में ऐसे 79 फीसदी और महानगरों में 50 फीसदी स्टोर मालिकों ने बताया कि अनलॉक चरणों के बाद भी उनके स्टोर में नए ग्राहक आ रहे हैं।

फूड और ग्रोसरी से ज्यादा रेवेन्यू

पिछले साल प्रकाशित एक ईवाई की रिपोर्ट से पता चला था कि फ़ूड और ग्रोसरी मार्केट में एक बड़ा अवसर है लेकिन खुदरा विक्रेता इस अवसर को भुना नहीं पाए। इसने यह भी कहा था कि भारत में रेवेन्यू में सबसे बड़ी हिस्सेदारी फ़ूड और ग्रोसरी से है। यह 2020 तक कुल रिटेल रेवेन्यू का लगभग 66 प्रतिशत होने का अनुमान है।

X
छोटे शहरों में 79 फीसदी और महानगरों में 50 फीसदी स्टोर मालिकों ने बताया कि अनलॉक चरणों के बाद भी उनके स्टोर में नए ग्राहक आ रहे हैंछोटे शहरों में 79 फीसदी और महानगरों में 50 फीसदी स्टोर मालिकों ने बताया कि अनलॉक चरणों के बाद भी उनके स्टोर में नए ग्राहक आ रहे हैं

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.