पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57107.15-2.87 %
  • NIFTY17026.45-2.91 %
  • GOLD(MCX 10 GM)481531.33 %
  • SILVER(MCX 1 KG)633740.45 %
  • Business News
  • Consumer
  • Banking ; EMI ; Loan ; Installment ; Sbi ; Everyone Will Get The Benefit Of EMI Discount Facility, No Information Will Be Given To The Bank For This

बैंकिंग:सभी को मिलेगा EMI पर छूट का लाभ, इसके लिए बैंक को नहीं देनी होगी कोई सूचना

bhopal2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

यूटिलिटी डेस्क। कोरोनावायरस के कारण देश में छाई आर्थिक मंदी को देखते हुए भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) ने कर्जदाताओं को अगले तीन महीनों के लिए अपने घर या ऑटो ऋण पर ईएमआई का भुगतान नहीं करने की सहूलियत दी है। लेकिन अब भी ग्राहकों को यह मैसेज आ रहा है कि वे ईएमआई के लिए अपने खाते में पर्याप्त बैलेंस रखें। ऐसे में हम आपको बताना चाहेंगे कि अगर आप भी इस सुविधा का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको कुछ करने की जरूरत नहीं हैं आपको इसका लाभ अपने आप मिल जाएगा। एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार के अनुसार उनके ग्राहकों को इसका फायदा अपने आप मिल जाएगा।

बैंक क्यों भेज रहे मैसेज?
बैंकों के अनुसार जिस सिस्टम द्वारा ये मैसेज भेजे जाते हैं वो ऑटोमेटिक मोड पर काम करता है इस कारण कर्जदारों को मैसेज पहुंच गए हैं। लेकिन किसी को परेशान होने की जरूरत नहीं है सभी ग्राहकों को सरकार की योजना का लाभ मिलेगा।


अगर ईएमआई देना चाहते हैं तो क्या करे
ं? 
अगर ईएमआई देना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने बैंक को सूचित करना होगा। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आप भी सरकार की स्कीम के दायरे में आ जाएंगे। 

क्या है सरकार की घोषणा?
आरबीआई ने टर्म लोन की किश्त चुकाने में तीन महीने की छूट दी है। सभी कमर्शियल, रीजनल, रूरल, एनबीएफसी और स्मॉल फाइनेंस बैंकों को सभी तरह के टर्म लोन की ईएमआई वसूलने से रोक दिया गया है। ग्राहक खुद चाहें तो भुगतान कर सकते हैं, बैंक दबाव नहीं डालेंगे। क्रेडिट कार्ड के बकाया भुगतान पर भी तीन महीने की छूट लागू होगी। इसके तहत अगले तीन महीने तक ऐसे किसी भी व्यक्ति के खाते से किश्त नहीं कटेगी, जिन्होंने कर्ज ले रखा है। इससे आपके क्रेडिट स्कोर पर भी असर नहीं पड़ेगा। तीन महीने तक लोन की किश्त नहीं चुका पाएंगे तो इसे डिफॉल्ट नहीं माना जाएगा। तीन महीने की अवधि के बाद आपकी ईएमआई दोबारा शुरू हो जाएंगी। हालांकि, इसके ये मायने नहीं हैं कि बकाया कभी चुकाना ही नहीं होगा, मोहलत सिर्फ तीन महीने की है। बस तीन महीने टाल सकते हैं, बाद में पेमेंट करना होगा। यह कदम इस मकसद से उठाया गया है कि लॉकडाउन की वजह से जिनके पास वाकई नकदी की कमी होती है तो उन्हें कर्ज के भुगतान में कुछ समय मिल जाए।