Home »States »Uttar Pradesh» Survey Says Major Parties Spent Rs 5500 Cr On UP Poll Campaign

यूपी में एक वोट पर आई 750 रुपए की कॉस्ट, बड़ी पार्टियों ने खर्च किए 5500 करोड़

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में हाल ही में हुए विधान सभा चुनाव में हर एक वोट पर 750 रुपए की कॉस्ट आई। चुनावो में बड़ी पार्टियों ने कुल 5500 करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च किया है। यहां तक कि वोट देने के बदले करीब 1000 करोड़ रुपए वोटर्स में बांटे गए हैं। यहां तक कि उन्हें कैश के अलावा लिकर या दूसरे आइटम भी दिए गए हैं। ये बातें सीएमएस द्वारा प्री और पोस्ट पोल सर्वे में सामने आई है।
 
सीएमएस ने अपने सर्वे में कहा गया है कि चुनाव आयोग की ओर से हर कैंडिडेट कैंपेनिंग में 25 लाख रुपए खर्च कर सकता है, लेकिन औसत खर्च इससे ज्यादा हुआ है। सर्वे में 55 फीसदी लोगों ने माना कि वे व्यक्तिगत रूप से ऐसे लोगों को जानते हैं जिन्होंने वोट के बदले इलेक्शन के दौरान या पहले कैश लिया। लिक्वर ऑफर की जाने की भी बात सामने आई।
 
नोटबंदी ने बढ़ाया चुनाव खर्च
सर्वे में कहा गया है कि नोटबंदी की वजह से चुनाव प्रचार के दौरान खर्च बढ़ गया। बहुत से ऐसे विधानसभा क्षेत्र थे, जहां नजदीकी फाइट होने की वजह से वोटर्स को 500 से 2000 रुपए ऑफर हुए। वोट देने के बदले करीब 1000 करोड़ रुपए वोटर्स में बांटे गए हैं। यहां तक कि यूपी इलेक्शन में इलीगल एक्टिविटी में 200 करोड़ रुपए जब्त भी किए गए।
 
प्रचार के इन तरीकों पर 900 करोड़ खर्च
सर्वे में कहा गया है कि प्रचार के इलेक्ट्रॉनिक, प्रिंट व दूसरे माध्‍यमों पर 600 से 900 करोड़ रुपए खर्च हुए। प्रचार में सोशल मीडिया का भी सहारा लिया गया। 
 
औसत खर्च हर स्टेट से ज्यादा
सर्वे में कहा गया है कि यूपी चुनाव में हर वोट 750 रुपए का पड़ा। यह रेश्‍यो देखें तो यूपी में प्रति वोटर खर्च दूसरे राज्यों के मुकाबले ज्यादा रहा है। हालांकि, दूसरे राज्यों का कोई डाटा नहीं दिया गया है। 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY