Home »States »Punjab» BJP & AKALI Dal These 5 Mistake Give Profit To Congress

पंजाब के विकास में इन 5 जगहों पर चूक गए अकाली-बीजेपी, कांग्रेस को मिला इनका फायदा

नई दिल्ली। पंजाब के नतीजों के रुझान से साफ हो गया है कि वहां कांग्रेस की सरकार बनने वाली है। बीते 10 साल से पंजाब में अकाली दल और बीजेपी की मिलीजुली सरकार रही है। इन 10 सालों में राज्य ने इकोनॉमी के पैरामीटर पर कई सारी गिरावट देखी है। जिसका असर चुनाव परिणाम पर दिख रहा है। राज्य में एग्रीकल्चर, इंडस्ट्री और जीडीपी के मामले में पंजाब पिछड़ा है। कभी देश के विकास में सबसे ज्यादा योगदान देने वाले पंजाब पर 1.18 लाख करोड़ रुपए का कर्ज है। वहां रहने वालों की औसत आय देश के कई राज्यों में प्रति व्यक्ति आय से पीछे रह गई है। हजारों कारखाने, फैक्ट्रियां और स्कूल बंद हो चुके हैं।
 
एग्रीकल्चर सेक्टर में पिछड़ा पंजाब
  हरित क्रांति में अग्रणी भूमिका निभाने वाला पंजाब एग्रीकल्चर सेक्टर में 1960 के मिड से 1970 के मिड तक पंजाब देश में सबसे आगे था। इस दौरान एग्रीकल्चरल ग्रोथ औसतन 6.63 फीसदी रही, जो देश में सबसे ज्यादा थी। साल 1996-97 के दौरान पंजाब में एग्रीकल्चर ग्रोथ रेट 5.63 फीसदी रही। फाइनेंशियल ईयर 2015 में यह विकास दर शून्य से भी नीचे चली गई जबकि देश की एग्रीकल्चर ग्रोथ रेट करीब 4 फीसदी रही।
  एग्रीकल्चर में ये राज्य पंजाब से हैं आगे
 
गुजरात               28.30  
मध्‍य प्रदेश          20.40  
हिमाचल प्रदेश    13.35  
तेलंगाना               8.39
झारखंड               8.30
तमिलनाडु            7.33
राजस्‍थान              5.15  

इंडस्ट्री की हालत हुई खराब
 
पिछले 15 से 20 साल में पंजाब में इंडस्ट्री सेक्टर की हालत लगातार बिगड़ी है। रिपोर्ट के मुताबिक 2007 से 2015 के बीच 8 सालों में राज्य में 17,274 इंडस्ट्रियल इंडस्ट्रियल यूनिट बंद हो गईं या किसी दूसरे राज्यों में शिफ्ट हो गईं।  राज्य सरकार की ओर से असेंबली में दी गई जानकारी के अनुसार करीब 6,550 फैक्ट्रियां या कारखाने बीमार घोषित किए जा चुके हैं। राज्य में बड़ी इंडस्ट्री की हालत भी बुरी है और करीब 350 बड़ी यूनिट पर आज 5,750 करोड़ का लोन है।   
 
घटी इंडस्ट्रियल ग्रोथ
 
बादल सरकार ने काफी बड़े दावे किए लेकिन आकंड़ें कोई और ही कहानी बता रहे हैं। साल 2009-10 में इंडस्ट्रियल ग्रोथ 9.77 फीसदी थी, जो 2013-14 में घटकर 2.55 फीसदी रह गई। जबकि, बिहार जैसे गरीब  राज्य की इंडस्ट्रियल ग्रोथ 11.53 फीसदी थी।

देश के विकास में कम होता गया पंजाब का योगदान
 
पंजाब 1980 के पहले देश के विकास में सबसे ज्यादा योगदान देने वाले राज्यों में शामिल था। साल दर साल उसका यह सहयोग लगातार कम होता चला गया है। मौजूदा दौर में मामले में पंजाब 14वें नंबर पर आ गया है।  
 
-1985-86 के दौरान देश की जीडीपी में योगदान: 4.27 फीसदी
-2013-14 के दौरान देश की जीडीपी में योगदान: 3.03 फीसदी
-2014-15 के दौरान देश की जीडीपी में योगदान: 2.78 फीसदी... 

1.18लाख करोड़ के कर्ज के बोझ से दबा है पंजाब
 
पंजाब मौजूदा समय में कर्ज के बोझ से दबा हुआ है। पिछले 8 साल में राज्य पर कर्ज दोगुने से ज्यादा हो गया है। पंजाब पर कुल 1.18 लाख करोड़ रुपए का कर्ज है। राज्य पर कुल कुल ग्रॉस डोमेस्टिक स्टेट प्रोडक्शन का 32 फीसदी कर्ज है।
 
कैसे बढ़ता गया कर्ज  
 
राज्य पर 2007-08 के दौरान कर्ज 51 हजार करोड़ के आस-पास था। 2015 तक यह कर्ज बढ़कर 1.18 लाख करोड़ पहुंच गया।  
 
अगली स्लाइड में जानें - प्रति व्यक्ति आय में पिछड़ा पंजाब 
 
 
 
 
 


और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY