Home »States »Maharashtra» Maharasthra Budget 2017-18

महाराष्ट्र बजट:आम आदमी को राहत, नहीं बढ़ा जरूरी वस्तुओं पर टैक्स, शराब और लॉटरी होगी महंगी

मुंबई।महाराष्ट्र सरकार का 2017-18 का बजट फाइनेंस मिनिस्टर सुधीर मुनगंटीवार ने विधानसभा में पेश कर दिया है। राज्य के फाइनेंस मिनिस्टर सुधीर मुनगंटीवार ने बजट में कोई भी टैक्स नहीं बढ़ाया है। हालांकि, उन्होंने शराब और लॉटरी पर टैक्स बढ़ाया है। 2017-18 के बजट में ऐसा माना जा रहा था कि राज्य सरकार किसानों का कर्ज माफ कर सकती है लेकिन ऐसी कोई घोषणा बजट में नहीं की गई। हालांकि, एग्रीकल्चर सेक्टर के लिए सिचांई योजनाओं के लिए आवंटन बढ़ाया है।
 
शराब और लॉटरी पर बढ़ाया टैक्स
 
महाराष्ट्र के फाइनेंस मिनिस्टर सुधीर मुनगंटीवार ने बजट 2017-18 में शराब पर 23.08 फीसदी से लेकर 25.93 फीसदी टैक्स बढ़ा दिया है। साप्ताहिक लॉटरी पर टैक्स 70,000 रुपए से बढ़ाकर एक लाख रुपए कर दिया है। राज्य में डिजिटल इंडिया को प्रमोट करने के ले स्वाइप मशीन पर टैक्स 13 फीसदी से घटाकर जीरो फीसदी कर दिया है।
 
किसानों के लिए नहीं की कोई बड़ी घोषणा
 
महाराष्ट्र के फाइनेंस मिनिस्टर ने किसानों के लोन माफी के लिए कोई घोषणा नहीं की है। बजट 2017-18 बजट में सिंचाई परियोजना के लिए 8,233 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं। प्रधानमंत्री कृषि सिंचई योजना के अंतर्गत 26 परियोजनाओं के लिए 2,812 करोड़ रुपए आवंटित। जल संसाधन विभाग के लिए 8,233 करोड़ रुपए का प्रावधान। समुदाय खेती, किसानों के विकास और किसान उत्पादक कंपनियों की स्थापना के लिए 200 करोड़ रुपए अलग से रखा गया है। किसानों को अपने उत्पाद बेचने और भंडारण की सुविधा में सुधार और वैकल्पिक बाजार विकसित करने के लिए 50 करोड़ रुपए अलग से रखा गया है।
 
इंडस्ट्री के लिए बढ़ाया आवंटन
 
- इंडस्ट्री को मराठवाड़ा और विदर्भ में प्रोत्साहित करने के लिए बिजली दरों में रियायत दी जाएगी। इसके लिए 1,000 करोड़ रुपए अलग आवंटित किए गए हैं।
- नहीं बढ़ाया कोई टैक्स
 
अगली स्लाइड में जानें – कहां बढ़ाया आवंटन..
 

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY