Home »States »Jharkhand» Free From Stigma Of Corruption And Political Instability, BJP Led Jharkhand Can Now Exceed The National Economic Growth Average By 4 , 5 Per Cent, Said Finance Minister Arun Jaitley Today.

झारखंड में होगा 68 हजार करोड़ का निवेश; अडानी, जिंदल, एस्सार सहित कई कंपनियों ने किए एलान

 
रांची.झारखंड ग्लोबल समिट में 68 हजार करोड़ रुपए के निवेश के एलान किए। समिट के पहले अडानी ग्रुप, जेएसपीएल, बिड़ला ग्रुप, वेदांता ग्रुप सहित कई ने हजारों करोड़ के निवेश की घोषणा की। यह निवेश पावर, माइनिंग, इन्फ्रास्ट्रक्चर सहित कई सेक्टर्स में किए जाने का प्रस्ताव है। इससे पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने समिट का उद्घाटन करते हुए कहा कि राज्य में ग्रोथ और निवेश की खासी संभावनाएं हैं।
 
 
अडानी ग्रुप करेगा20हजार करोड़ का निवेश
 
अडानी ग्रुप ने झारखंड में 20 हजार करोड़ के निवेश का वादा किया। ग्रुप की कंपनी अडानी एंटरप्राइजेस के मैनेजिंग डायरेक्टर राजेश अडानी ने कहा कि उनका ग्रुप अल्ट्रा मेगा पावर प्लांट सहित विभिन्न सेक्टर्स में निवेश करेगा। अडानी ग्रुप ने गोड्डा में यूएमपीपी की स्थापना के लिए एक समझौता किया। इसका कंस्ट्रक्शन साल के अंत में शुरू हो जाएगा। ग्रुप रिन्युअल एनर्जी सेक्टर में 3 हजार करोड़ का निवेश करेगा।
 
 
जेएसपीएल का20हजार करोड़ के निवेश का वादा
 
जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड (जेएसपीएल) ने झारखंड में 20 हजार करोड़ रुपए के निवेश का एलान किया है। कंपनी के चेयरमैन नवीन जिंदल ने कहा, ‘कंपनी कुछ साल के भीतर 20 हजार करोड़ रुपए का निवेश करेगी। इसके अलावा कंपनी 3 हजार करोड़ रुपए पहले ही निवेश कर चुकी है।’
जिंदल ने कहा कि कंपनी अपने पतरातु स्थित स्टील प्लांट की क्षमता सालाना 16 लाख टन से बढ़ाकर 60 लाख टन करेगी।
 
 
एस्सार ग्रुप करेगा10हजार करोड़ का निवेश
 
एस्सार ग्रुप ने झारखंड में 10 हजार करोड़ के निवेश की प्रतिबद्धता जाहिर की। समिट के दौरान एस्सार के ग्रुप चेयरमैन शशि रुइया ने कहा कि इस निवेश से राज्य के लातेहार में 1200 मेगावाट का पावर प्लांट लगाया जाएगा। इसके अलावा तोस्कीउद नॉर्थ कोल माइन के विकास पर लगभग 1100 करोड़ रुपए का खर्च आने का अनुमान है।
 
 
6700करोड़ रुपएलगाएगी वेदांता 
 
खनन क्षेत्र की कंपनी वेदांता ने झारखंड में 1 अरब डॉलर (6700 करोड़ रुपए)  का निवेश करेगी। वेदांता के प्रमुख अनिल अग्रवाल ने कहा कि राज्य के लिए उनकी 'बड़ी योजनाएं' हैं लेकिन वह शुरुआत एक अरब डॉलर के निवेश से करेगी जिसमें 10 लाख टन की क्षमता वाला एक इस्पात संयंत्र स्थापित करना शामिल है। झारखंड को 'विश्व के ताज में एक हीरा' बताते हुए वेदांता रिसोर्सेज समूह के चेयरमैन अनिल अग्रवाल ने कहा कि राज्य में 'अपार संभावनाएं हैं' और वेदांता की इसके लिए कई बड़ी योजनाएं हैं।
 
आदित्य बिड़ला ग्रुप ने किया5हजार करोड़ के निवेश का वादा
 
आदित्य बिड़ला ग्रुप के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला ने राज्य में विभिन्न सेक्टर्स 5 हजार करोड़ रुपए के निवेश का वादा किया। बिड़ला ने कहा, ‘अभी तक हमने राज्य में 5 हजार करोड़ का निवेश किया है, जिसमें अगले कुछ साल में 5 हजार करोड़ रुपए का निवेश बढ़ाने की योजना है।’ उन्होंने कहा कि ग्रुप भविष्य में राज्य में होने वाले बॉक्साइट और कोल माइन्स के ऑक्शन में भाग लेगा।
 
एस्सेल इन्फ्रा करेगी5700करोड़ का निवेश
 
एस्सेल इन्फ्राप्रोजेक्ट्स लिमिटेड (ईआईएल) ने राज्य में इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास और विस्तार के लिए 5700 करोड़ रुपए के निवेश का एलान किया। कंपनी ने एक बयान में कहा कि एस्सेल भविष्य की जरूरतों को पूरा करने के लिए राज्य में स्मार्टर कम्युनिटीज और विश्व स्तरीय इन्फ्रास्ट्रक्चर का निर्माण करेगी।
 
 
इकोनॉमिक ग्रोथ में बड़ी भूमिका निभाएगा झारखंडः जेटली
 
इससे पहले समिट का उद्घाटन करते हुए वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि आने वाले समय में झारखंड देश की इकॉनोमी ग्रोथ में बड़ी भूमिका निभा सकता है। उन्‍होंने कहा कि झारखंड देश की ग्रोथ में 4-5 फीसदी से अधिक तक की मदद कर सकता है। उन्होंने कहा कि झारखंड इन्‍वेस्‍टर्स के लिए शानदार जगह है।
उन्होंने कहा कि झारखंड में ग्रोथ की खासी क्षमताएं हैं और मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर भी मजबूत स्थिति में है, जल्द ही यहां सर्विस सेक्टर में ग्रोथ दिखेगा। राज्य में शहरीकरण की काफी संभावनाएं हैं।
 
अगली स्लाइड में पढ़िए-समिट से बदलेगा इतिहास
 
 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY