Home »States »Delhi» Airbus Will Set Up A Training Facility For Pilots And Maintenance Engineers In Delhi

AIRBUS दिल्ली में खोलेगी एशिया का पहला ट्रेनिंग सेंटर, हर साल तैयार होंगे 800 पायलट

AIRBUS दिल्ली में खोलेगी एशिया का पहला ट्रेनिंग सेंटर, हर साल तैयार होंगे 800 पायलट
नई दिल्‍ली।  फ्रांसीसी विमान निर्माता कंपनी एयरबस पायलटों तथा एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियरों (एएमई) के लिए एशिया का अपना पहला ट्रेनिंग सेंटर दिल्ली एयरपोर्ट के पास खोलेगा। नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू और एयरबस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी टॉम एंडर्स ने शुक्रवार को यहां इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट  के पास इसका शिलान्यास किया। केंद्र का निर्माण कार्य अगले साल के अंत तक पूरा होने की उम्मीद है। यहां शुरुआत में दो फुल फ्लाइट सिम्युलेटर लगाए जाएंगे । इसमें हर साल 800 पायलटों तथा 200 एएमई को विमान विशेष का प्रशिक्षण दिया जा सकेगा। दुनिया में सबसे तेज गति से बढ़ रहे डोमेस्टिक एविएशन मार्केट्स में भारत भी है। अनुमान है कि अगले 20 साल में भारत का मार्केट सालाना 9.3% की दर से आगे बढ़ेगा। 
 
 
2035 तक भारत को चाहिए 1600 प्लेन
 
- एक अनुमान के मुताबिक 2035 तक भारत को 1600 पैसेंजर और मालवाहक प्लेन चाहिए।
- एयरबस के मुताबिक भारत में एयरक्राफ्ट बेड़े के लिए सर्विस की जरूरत बढ़ेगी। यहां 24 हजार से ज्यादा नए पायलटों और मेंटेनेंस इंजीनियर्स की जरूरत होगी। यह ट्रेनिंग सेंटर भारत और एशिया में एयरबस ऑपरेटर्स की कमी को पूरा करेगा।
 
एयरबस के 250 प्लेन चल रहे भारत में
 
- एयरबस के भारत में अभी 250 से ज्यादा प्लेन चल रहे हैं। जबकि इंडियन एयरलाइंस की तरफ से 570 से ज्यादा प्लेन का ऑर्डर है।
- कंपनी के सीईओ टॉम एंडर्स ने कहा, "ट्रेनिंग सेंटर के जरिए हमने अभी सिर्फ भारत के सिविल एविएशन मार्केट में कदम भर रखा है, इस सेंटर से हम पूरे एशिया में पहली बार ऐसी फैसिलिटीज अवलेबल कराएंगे।"

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY