Home »States »Chhattisgarh» Chhattisgarh Handicraft Sale Has Increased Compare To Last Year

छत्तीसगढ़ की हैंडीक्राफ्ट सेल बीते साल से रही अधिक, फेयर लगाने से मिली मदद

छत्तीसगढ़ की हैंडीक्राफ्ट सेल बीते साल से रही अधिक, फेयर लगाने से मिली मदद
रायपुर। देश के क्राफ्ट बाजार में छत्तीसगढ़ के शिल्पकारों के बनाए प्रोडक्ट की डिमांड ने ग्रामोद्योग की सेल बढ़ा दी है। छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड के मुताबिक कोलकाता, जयपुर, हैदराबाद, इलाहाबाद, रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, भिलाई और गुवाहाटी जैसे जगहों पर प्रदर्शनी में हिस्सा लेने का फायदा राज्य के शिल्पकारों को मिला है।
 
हस्तशिल्पियों को अपने प्रोडक्ट बेचने के लिए सरकार मार्केट देने की कोशिशें छत्तीसगढ़ सरकार कर रही है। राज्य सरकार के ग्रामोद्योग विभाग के उपक्रम छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड ने अपने एम्पोरियम और प्रदर्शनियों के जरिए साल 2015-16 में 9.15 करोड़ रुपए की सेल की है, जो पिछले साल 2014-15 की तुलना में 2.63 करोड़ रुपए ज्यादा है। कुल सेल में से 6.31 करोड़ रुपए छत्तीसगढ़ सहित देश के प्रमुख शहरों में बोर्ड की ओर से आयोजित प्रदर्शनियों के जरिए आए। 2.84 करोड़ रुपए की कलाकृतियों की बिक्री हस्तशिल्प विकास बोर्ड द्वारा संचालित एम्पोरियम से हुई है।
 
राज्य के लगभग 1350 शिल्पकारों को इसका लाभ मिला है। राज्य और देश के बड़े शहरों में छत्तीसगढ़ के पारम्परिक कारीगरों के हाथों से बनी कलाकृतियों की डिमांड आ रही है।
 
हस्तशिल्प विकास बोर्ड की प्रदर्शनियों और एम्पोरियम में मेटल, लोहे से बनी मुर्ती, भित्ती चित्र, फर्नीचर, शिल्प, बांस शिल्प आदि शामिल है और इनकी डिमांड ज्यादा मिल रही है। 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY