Home »States »Bihar» Bihar Government Will Not Renew License Of Liquor Unites In 2017-18

बिहार में शराब बनाने पर भी रोक, अलकोहल मैन्‍युफैक्‍चरिंग यूनिट के नहीं रिन्‍यू होंगे लाइसेंस

बिहार में शराब बनाने पर भी रोक, अलकोहल मैन्‍युफैक्‍चरिंग यूनिट के नहीं रिन्‍यू होंगे लाइसेंस
पटना।शराबबंदी के अपने अभियान को सफल बनाने के लिए बिहार की नीतीश कुमार सरकार अब राज्‍य में शराब बनाने पर भी रोक लगाने वाली है। मंगलवार को सरकार ने वित्‍त वर्ष 2017-18 में बीयर, बॉ‍टलिंग प्‍लांट्स और ईएनए (एक्‍स्‍ट्रा न्‍यूट्रल अल्‍कोहल) मैन्‍यूफैक्‍चरिंग यूनिट्स को लाइसेंस जारी नहीं करने का फैसला लिया है। मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में यह फैसला लिया गया।
 
कैबिनेट मीटिंग में लिया गया फैसला
 
प्रिंसिपल सेक्रेटरी कैबिनेट कोऑर्डिनेशन डिपार्टमेंट ब्रजेश मेहरोत्रा ने बताया कि नालंदा जिले के राजगीर में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की अध्‍यक्षता में हुई कैबिनेट मीटिंग में एक्‍साइज और प्रोहिबिशन डिपार्टमेंट के प्रपोजल को मंजूरी दे दी गई। कैबिनेट ने तय किया है कि बिहार में चल रही तीन बीयर मैन्‍युफैक्‍चरिंग यूनिट्स, 12 बॉटलिंग प्‍लांट्स और 6 ईएनए यूनिट्स के अगले वित्‍तीय वर्ष (2017-18) में लाइसेंस रिन्‍यू नहीं किया जाएगा। हालांकि एथनॉल का मैन्‍युफैक्‍चरिंग करने वाली 6 यूनिट्स काम करती रहेंगी।
 
नॉन-अल्‍कोहलिक प्रोडक्‍ट्स के लिए मिलेगा परमिट
 
मेहरोत्रा ने बताया कि फिलहाल शराब तैयार करने में जुटी ये यूनिट्स अगर नॉन-अल्‍कॉहोलिक प्रोडक्‍ट्स तैयार करना चाह‍ती हैं, तो उन्‍हें इसकी अनुमति दे दी जाएगी। कैबिनेट मीटिंग में इसके अलावा 32 अन्‍य प्रपोजल्‍स को भी सरकार ने मंजूरी दी।
 
21 से 21 मार्च तक चलेगा राज्‍य का बजट सेशन
 
मीटिंग में विधानसभा और विधानपरिषद में 23 से 31 मार्च तक बजट सेशन का आयोजन करने का फैसला लिया गया। राजधानी पटना से बाहर अन्‍य जिलों में कैबिनेट बैठक करने की शुरुआत नीतीश कुमार ने ही की थी। 2005 में जब वह सत्‍ता में आए, तब से लेकर अब तक वह 4 कैबिनेट मीटिंग राजधानी से बाहर कर चुके हैं। राजगीर के इंटरनेशनल कनवेंशन सेंटर में यह चौथी मीटिंग थी।

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY