Home »SME »Policy» Government Is Regularly Saying There Is No Negative Impact On Demonetization

मोदी जी कैसे मानें आपकी बात, ऑटो, रियल एस्टेट, बैंक, एसएमई सब पर है निगेटिव इम्पैक्ट

नई दिल्ली. नोटबंदी के एलान को 60 दिन हो चुके हैं। मोदी सरकार की 50 दिन की डेडलाइन भी खत्म हो गई है, लेकिन अभी तक यह क्लियर नहीं हुआ है कि नोटबंदी का क्या असर हुआ। फाइनेंस मिनिस्टर जहां इनडायरेक्ट टैक्स में बढ़ोत्तरी के आंकड़े देकर यह साबित करने में जुटे हैं कि नोटबंदी का कोई नेगेटिव असर नहीं हुआ, वहीं ऑटो, रियल एस्टेट, RBI और एसएमई के आंकड़े मोदी सरकार की बातों को झुठला रहे हैं। ऐसे में, यह सवाल उठता है कि जो इंडस्ट्री और लोग सीधे नोटबंदी से प्रभावित हो रहे हैं और वे नेगेटिव इम्पैक्ट की बात कर रहे हैं, तो ऐसे में सरकार का दावा कैसे सही माना जाए। बैंकों का क्रेडिट ग्रोथ 60 साल के लो लेवल पर...
 

- आरबीआई के आंकड़ों के अनुसार 23 दिसंबर को बैंकों का क्रेडिट ग्रोथ गिरकर 5.1 फीसदी पर आ गया, जो पिछले कई दशकों के लो लेवल पर है।
- इकोनॉमिस्ट्स के अनुसार, बैंकों की क्रेडिट ग्रोथ में इतनी गिरावट काफी चिंता की बात है।
- इकोनॉमिस्ट डी.एच.पई पन्नंदिकर ने moneybhaskar.com को बताया कि क्रेडिट ग्रोथ 60 साल के लो लेवल पर है।
 
ऑटो सेल्स में 16 साल की सबसे बड़ी गिरावट
- किसी भी इकोनॉमी की स्थिति को समझने के लिए ऑटो सेक्टर के ग्रोथ को काफी अहम माना जाता है, लेकिन मंगलवार को जारी ऑटोमोबाइल कंपनियों की सेल्स के आंकड़े इकोनॉमी के लिए काफी गंभीर संकेत दे रहे हैं।
- सोसाइटी ऑफ इंडिया ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स के अनुसार, दिसंबर में सेल्स 16 साल के लो लेवल पर आ गई है।
- सि‍आम के डीजी वि‍ष्‍णु माथुर ने कहा, "सभी कैटेगरीज की टोटल सेल में दि‍संबर 2000 के बाद की सबसे बड़ी गि‍रावट देखने को मि‍ली है। उस वक्‍त सेल्‍स में 21.81% की गि‍रावट दर्ज की गई थी।"
- "नोटबंदी की वजह से कंज्‍यूमर सेंटीमेंट नेगेटि‍व हो गया है। दिसंबर में टोटल व्हीकल्स सेल्स में 18.66% की गिरावट दर्ज की गई है।"
 
रियल एस्टेट की सेल 44% गिरी
- रियल एस्टेट सेक्टर की एजेंसी नाइट फ्रैंक की मंगलवार को जारी रिपोर्ट ‘इंडि‍या रियल एस्‍टेट’ में कहा गया है कि नोटबंदी की वजह से इस सेक्टर को काफी नुकसान हुआ।
- नोटबंदी फैसले के चलते इंडस्‍ट्री की बिक्री में तकरीबन 44% की गि‍रावट दर्ज की गई है। इसके चलते इंडस्ट्री को अब तक करीब 2600 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।
 
 
आगे की स्लाइड्स में पढ़ें, एसएमई सेक्टर में 25% की गिरावट, सरकार के ग्रोथ के अनुमान पर भी उठे सवाल...

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY