Home »Experts »SME» Expert Says That Budget Is Benefited To MSMEs

एमएसएमई सेक्‍टर के लिए फायदेमंद रहा बजट

एमएसएमई सेक्‍टर के लिए फायदेमंद रहा बजट
 
नई दिल्‍ली। फाइनेंस मिनिस्‍टर अरुण जेटली ने बजट 2017-18 में कई घोषणाएं की हैं, लेकिन एमएसएमई के लिए एक बड़ी घोषणा की है। उन्‍होंने कारपोरेट टैक्‍स 30 फीसदी से घटाकर 25 फीसदी कर दिया है, वो भी सालाना टर्नओवर 50 करोड़ रुपए तक के एमएसएमई को इसमें शामिल किया गया है। इसमें लगभग 96 फीसदी कारोबारियों को सीधा फायदा होगा। 
 
एमएसएमई सेक्‍टर पहले से यह मांग करता रहा है कि जिस तरह इंडिविजुअल्‍स को अलग-अलग स्‍लैब के तहत टैक्‍स में छूट दी जाती है, उसी तरह एमएसएमई को टैक्‍स में छूट दी जाए। फाइनेंस मिनिस्‍टर ने कुछ हद तक यह बात मान ली है।
 
इसके अलावा बजट में प्रधानमंत्री मुद्रा स्‍कीम का टारगेट दोगुना कर दिया गया है। मुद्रा स्‍कीम के तहत छोटे से छोटे कारोबारियों को लोन दिया जा रहा है। लाखों व्‍यापारियों ने इसका फायदा लिया है। अब सरकार ने इसका टारगेट दोगुना कर दिया है, जिसका मतलब यह है कि पिछले साल जितने व्‍यापारियों को लोन दिया गया है, इस साल उससे दोगुने ज्‍यादा व्‍यापारियों को लोन दिया जाएगा। इससे लोन का दायरा बढ़ेगा और एमएसएमई सेक्‍टर को काफी फायदा होगा।
 
फाइनेंस मिनिस्‍टर ने इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर सेक्‍टर की अलोकेशन भी काफी बढ़ा दी है जिससे कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर को फायदा होगा और कंसट्रक्‍शन सेक्‍टर से बड़ी संख्‍या में एमएसएमई जुड़े हुए हैं और एमएसएमई सेकटर की ग्रोथ संभव है।
  • लेखक गौरव गुप्‍ता, वर्ल्‍ड एसोसिएशन ऑफ स्‍मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज के सीनियर एडवाइजर हैं। 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY