Home »SME »Industry Voice» Industry May Change Salary Pattern For December 2016

नोटबंदी के बाद बदल जाएगा सैलरी मिलने का तरीका, होंगे ये बड़े बदलाव

 
नई दिल्‍ली। नोट बंदी के बाद दिसंबर में पहली सैलरी आने वाली है। कैश की कमी का सामना कर रहे लोगों को इस सैलरी का बेसब्री से इंतजार है, लेकिन नोट बंदी के बाद कई सेक्‍टर्स में काम कर रहे कर्मचारियों को सैलरी मिलने में परेशानी हो सकती है। सबसे अधिक परेशानी स्‍मॉल एंड मीडियम कैटेगिरी की कंपनियों के साथ-साथ अनऑर्गनाइज्‍ड सेक्‍टर में काम कर रहे कर्मचारियों को आ सकती है। यहां तक कि बड़ी-बड़ी कंपनियों में भी सैलरी के एक पार्ट को लेकर दिक्‍कत हो सकती है। इस वजह से सभी कंपनियां सैलरी के तरीके में बदलाव करने की रणनीति में जुटी हैं। कंपनी मैनेजमेंट में इन दिनों इस पर विचार विमर्श चल रहा है। आज हम आपको बता रहे हैं कि किस सेक्‍टर में नोट बंदी के बाद सैलरी पेमेंट  का सिस्‍टम किस तरह बदल जाएगा और इससे किसे फायदा या नुकसान हो सकता है।
 
 
अगली स्‍लाइड में पढ़ेंबड़ी इंडस्‍ट्री में होगा क्‍या पैटर्न 
 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY