Home »Personal Finance »Loans »Update» Realty Developers Welcomes 0.25% Repo Rate Cut By RBI, Home Buyers Will Be Benefited With Low EMI

RBI ने रेपो रेट घटाई, रियल्टी सेक्टर में सुधरेगा सेंटिमेंट, EMI का बोझ होगा कम

 
नई दि‍ल्ली। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने रेपो रेट 0.25 फीसदी घटाकर इसे 6.75% से 6.50% कर दिया है। मौजूदा रेपो रेट 2011 के बाद सबसे निचले स्‍तर पर है। लेडिंग रेट का नया फॉर्मूला आने और रेपो रेट में कमी के बाद यह उम्‍मीद बढ़ गई है कि बैंक तुरंत कर्ज सस्ता करने की शुरुआत करा सकते हैं। इससे होम लोन की ईएमआई कम होगी। इसका फायदासुस्त पड़े रियल्टी सेक्टर को मिल सकता है और डिमांड बढ़ सकती है।
 
 
सेंटिमेंट सुधरने का मिलेगा फायदा
 
क्रेडाई एनसीआर के हेड और गौड़ सन्स के एमडी मनोज गौड़ ने मनीभास्‍कर को बताया कि आरबीआई द्वारा रेपो रेट घटाने का फायदा रियल्टी सेक्टर को तभी मिलेगा जब बैंक इसका फायदा होम बायर्स को दें। इससे पहले भी आरबीआई ने रेपो रेट कम किया था, लेकिन बैंकों ने इसका पूरा फायदा कस्टमर्स को नहीं दिया। अगर बैंक इस बार कटौती का पूरा लाभ कस्टमर को देते हैं तो निश्चित ही सेक्टर को मिलेगा। रियल एस्टेट रेगुलेटर बिल पास हो जाने के बाद सेंटिमेंट में तेजी से सुधार हो रहा है। होम लोन पर इंटरेस्ट रेट कम होने से लोगों की परचेजिंग पॉवर बढ़ जाएगी। होम बायर्स को ईएमआई कम हो जाएगी। इससे प्रॉपर्टी की खरीददारी बढ़ेगी जो सेक्टर में तेजी लाने का काम करेगा।
 
रियल्टी सेक्टर को मिलेगा प्रोत्‍साहन
 
रियल एस्टेट कंसल्टेंसी फर्म नाइट फ्रेंक इंडिया के सीएमडी शिशिर बैजल ने बताया कि रेपो रेट 0.25 फीसदी घटने से रियल एस्टेट सेक्टर को निश्चित तौर पर एक नई ऊर्जा मिलेगी। मैं उम्‍मीद करता हूं कि बैंक इस कटौती का फायदा ग्राहकों को देंगे। रियल एस्टेट बिल और रिट्स को मंजूरी मिलने के बाद इस सेक्टर के लिए यह एक और अच्छी खबर है। आने वाले समय में महंगाई कंट्रोल और मानसून बेहतर रहने की उम्‍मीद है। इससे आरबीआई आगे भी रेपो रेट घटा सकता है।
 
अगली स्‍लाइड में पढ़ें किसने कहा कि उम्‍मीद से कम हुई कटौती...
तस्‍वीरों का इस्‍तेमाल प्रस्‍तुतिकरण के लिए किया गया है। 

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY