Home »Experts »Personal Finance» Government Want Expansion Of Tax Base

टैक्सपेयर्स को बड़ी राहत देने का नहीं था स्कोप

टैक्सपेयर्स को बड़ी राहत देने का नहीं था स्कोप
नई दिल्‍ली।पर्सनल इनकम टैक्‍स के मोर्चे पर लोगों को बजट से बहुत ज्‍यादा उम्‍मीदें थीं लेकिन सरकार ने इनकम टैक्‍स छूट की मौजूदा लिमिट को नहीं बढ़ाया है। इसका कारण यह है कि सरकार टैक्‍स बेस को बढ़ाना चाहती है।
 
इनकम टैक्‍स छूट की लिमिट को बढ़ाने से टैक्‍स बेस और घट जाता। ऐसे में सरकार ने लोगों को राहत देने के लिए 2.5 लाख रुपए से 5 लाख रुपए तक की इनकम वालों के लिए टैक्‍स रेट 10 फीसदी से घटा कर 5 फीसदी कर दिया है।
 
आम लोगों के लिहाज से यह निराशाजनक है लेकिन राजकोषीय अनुशासन के लिहाज से यह सही कदम है। लोगों को राहत देने के लिए सरकार के पास ज्‍यादा गुंजाइश्‍ नहीं थी। इसी तरह से लोगों की मांग थी कि 80 सी के तहत छूट की लिमिट बढ़ाई जानी चाहिए। लेकिन गुंजाइश न होने की वजह से सरकार छूट नहीं बढ़ाई। लोग बैंक सेविंग के इंटरेस्‍ट पर टैक्‍स छूट की उम्‍मीद कर रहे थे। लेकिन यहां भी सरकार ने इसे 10,000 रुपए पर बनाए रखा।
 
टैक्‍स रेट घटने से ही सरकार को लगभग 15,000 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। ऐसे में टैक्‍स बेस बढ़ाने के प्रयास में जुटी सरकार के लिए टैक्‍सपेयर्स को राहत देने का स्‍कोप कम था। 
 
(लेखक केपीएमजी इंडिया के पार्टर एंड हेड, टैक्‍स हैं।)

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY