Home »Personal Finance »Income Tax »Step To Step Guide» If The Child Is Minor And Investment Has Been Made Than File It Accordingly

बच्चों के नाम पर किया है इन्वेस्टमेंट तो ITR में दे जानकारी, नहीं होगी परेशानी

नई दिल्ली।अगर आपका बच्चे की इनकम पर पिछले फाइनेंशियल ईयर में टीडीएस काटा गया हो तो उसके नाम पर किए गए इन्वेस्टमेंट की जानकारी आईटीआर में देनी जरूरी है। इसके अलावा अगर बच्चे की होने वाली इनकम, टैक्स में मिलने वाली छूट से ज्यादा है और उसका पैन कार्ड नहीं बना है, तो भी उसकी इनकम को आपको अपने रिटर्न में शामिल करना होगा। ऐसा न करने से आईटी डिपार्टमेंट आपको नोटिस भेज सकता है।
 
कैसे होती है बच्चों की इनकम
 
आजकल बच्चे पढ़ाई के साथ-साथ अपनी हॉबी पर भी ध्यान देते हैं। वे एक्टिंग, डांसिंग और म्युजिक के चलते कई बार पार्ट टाइम जॉब भी करते हैं। ऐसे में बच्चों की अलग से इनकम होने लगती है। वहीं आजकल कुछ बच्चे टीवी रियल्टी शो में भी हिस्सा लेते हैं। कुछ शो में प्राइज मनी भी जीत लेते हैं। इस तरह की इनकम पर टीडीएस काटा जाता है। बच्चों की इस इनकम को आईटीआर में दिखाना जरूरी है। बिग डिसिजन डॉट कॉम के सीईओ मनीष शाह ने बताया कि ऐसा करना हर उस पैरेंट्स के लिए जरूरी है, जिनके बच्चे की किसी तरह से इनकम हुई हो या हो रही हो। अगर रिटर्न फाइल करते वक्त ऐसा नहीं करते हैं तो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट उन्हें नोटिस भेज सकता है।
 
बच्चों के नाम पर की गई इन इनकम का भी रखें ध्यान
 
शाह के मुताबिक अगर टैक्सपेयर ने पिछले फाइनेंशियल ईयर में बच्चे के नाम से किसी तरह की कोई एफडी या कोई अन्य इन्वेस्टमेंट किया है तो उसकी जानकारी देनी होगी। बच्चे का पैन कार्ड होने पर टैक्सपेयर को उसका अलग से रिटर्न फाइल करना होगा।
 
वहीं अगर बच्चे की इनकम पर किसी प्रकार का टीडीएस काटा गया है, लेकिन वह छूट लिमिट के अंदर है तो भी रिटर्न फाइल करते वक्त डिटेल्स देनी होगी। ऐसा करके आप इनकम टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा किसी नोटिस से बच सकेंगे।
 
अगली स्लाइड में पढ़े, क्यों टीडीएस कटने के बाद भी भरें आईटीआर......

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY