Home »Personal Finance »Income Tax »Update» Banks Revise MCLR Based Lending Rates For June

केनरा, आईसीआईसीआई सहित कई बैंकों ने घटाया MCLR, सस्ता होगा लोन

केनरा, आईसीआईसीआई सहित कई बैंकों ने घटाया MCLR, सस्ता होगा लोन
 
नई दिल्ली।स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई), पंजाब नेशनल बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और केनरा बैंक सहित कई लेंडर्स ने जून के लिए मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट्स (एमसीएलआर) में 0.15 फीसदी तक कटौती कर दी है, जो एक साल के लिए है। इसका मतलब है कि नए बॉरोअर्स को कम इंटरेस्ट रेट चुकानी होगी।
 
 
एसबीआई और पंजाब नेशनल बैंक ने एक साल की अवधि के लिए एमसीएलआर में कोई बदलाव नहीं करते हुए इसे क्रमशः 9.15 फीसदी और 9.40 फीसदी के स्तर पर बरकरार रखा है।
 
केनरा बैंक ने घटाया एमसीएलआर
 
केनरा बैंक ने एमसीएलआर को 0.10 फीसदी घटाकर 9.35 फीसदी और स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर ने 0.15 फीसदी घटाकर 9.55 फीसदी कर दिया है। बैंकों ने कहा कि नई लेंडिंग रेट्स बुधवार से ही लागू हो गई हैं।
 
आईसीआईसीआई ने 0.05 फीसदी घटाया लेंडिंग रेट
 
देश की सबसे बड़ी प्राइवेट सेक्टर की लेंडर आईसीआईसीआई बैंक ने अपनी एमसीएलआर में 0.05 फीसदी तक की कटौती की है और इसे एसबीआई व एचडीएफसी बैंक के समान कर दिया है। इससे नए बॉरोअर्स के लिए इंटरेस्ट रेट को घटाने में मदद मिलेगी।
 
एमसीएलआर ने ली है बेस रेट की जगह
 
एमसीएलआर नया बेंचमार्क लेंडिंग रेट हैं और नए बॉरोअर्स के लिए यह बेस रेट की जगह लेता है। इसकी गणना बैंकों की बॉरोइंग की मार्जिनल कॉस्ट और नेटवर्थ पर रिटर्न के आधार पर की जाती है। एमसीएलआर रेट को हर महीने संशोधित किया जाता है।
 
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने बैंकों के साथ ही बॉरोअर्स को उचित इंटरेस्ट रेट सुनिश्चित करने के लिए इसे पेश किया था।
 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY