Home »Personal Finance »Financial Planning »Update» CBT Has Moved A Proposal To Open Workers Bank

ईपीएफ मेंबर्स के लिए खुलेगा खास बैंक, सस्‍ते लोन सहित मिलेंगी तमाम फैसिलिटीज

नई दिल्ली। अगर आप प्राइवेट सेक्‍टर में काम कर रहे हैं तो आपके लिए अच्‍छी खबर है। केंद्र सरकार ईपीएफ मेंबर्स के लिए जल्‍द ही एक अलग बैंक खोलने जा रही है। यह बैंक मेंबर्स को सस्‍ता लोन सहित दूसरी बैंकिंग सुविधाएं मुहैया कराने के मकसद से खोला जा रहा है। केंद्र सरकार कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन (ईपीएफओ) के सेंट्रल प्रॉविडेंट फंड कमिश्‍नर डॉ वीपी जॉय ने moneybhaskar.com के महेंद्र सिंह से र्इपीएफ स्‍कीम के तहत बेनिफिट बढ़ाने और मेंबर्स को ऑनलाइन ईपीफ विद्ड्राल फैसिलिटी मुहैया कराने सहित तमाम मुद्दों पर बातचीत की है। पेश हैं बातचीत के प्रमुख अंश-
 
 
सवाल-  प्राइवेट सेक्‍टर के विस्‍तार के साथ क्‍या आपको नहीं लगता कि ईपीएफ की पेंशन स्‍कीम और बेनिफिट को मौजूदा समय की जरूरतों के हिसाब से अपडेट करने की जरूरत है?
 
जवाब-  हम उपलब्‍ध रिसोर्स के आधार पर मेंबर्स के लिए बेनिफिट बढ़ाने के उपायों पर गौर करते रहते है। इसी के तहत सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्‍टी ने मेंबर्स के लिए वर्कस बैंक बनाने का प्रस्‍ताव किया है। हम इसके लिए एक्‍सपर्ट कमेटी बनाने जा रहे हैं। इसके लिए रिजर्व बैंक के एग्‍जीक्‍यूटिव डायरेक्‍टर को एक्‍सपर्ट कमेटी का हेड बनाने का प्रयास किया जा रहा है। इसके बाद कमेटी के दूसरे मेंबर्स के नाम तय किए जाएंगे। एक्‍सपर्ट कमेटी बैंक के काम काज के तौर तरीकों को अंतिम रूप देगी। मौजूदा प्रस्‍ताव के तहत वर्कर्स बैंक ईपीएफ मेंबर्स के लिए अलग बैंक होगा जो सभी बैंकिंग सुविधाएं देगा। बैंकिंग सुविधाओं में सस्‍ते लोन की सुविधा भी शामिल हो सकती है।  
 
सवाल-ईपीएफओ के हायर सैलरी ग्रुप के मेंबर्स रिटायरमेंट की जरूरतों को पूरा करने लायक फंड बना सकें। इस दिशा में कोई सोच है आपकी?
 
जवाब -हमारी पेंशन स्‍कीम 15,000 रुपये सेलरी वालों के लिए है। हायर सैलरी ग्रुप मेंबर्स के लिए हम एक अलग सेल्‍फ फाइनेंश पेंशन स्‍कीम पर काम कर रहे हैं। इस स्‍कीम के लिए एक प्रस्‍ताव लेबर मिनिस्‍ट्री को भेजा गया और मंत्रालय इस स्‍कीम को लेकर पॉजिटिव है। यह एक सेल्‍फ फाइनेंस स्‍कीम होगी। इस स्‍कीम को हायर सैलरी वाले मेंबर्स वॉलंट्री ऑप्‍ट कर सकेंगे। स्‍कीम में एंप्‍लाई और एंप्‍लाॅॅयर का कांट्रीब्‍यूश्‍न होगा लेकिन सरकार कोई सब्सिडी नहीं देगी। यह ईपीएस स्‍कीम से अलग होगी लेकिन स्‍कीम का मैनेजमेंट ईपीएस की तरह ही होगा। नई पेंशन स्‍कीम भी डिफाइंड बेनिफिट स्‍कीम होगी। यानी हम आपको कैलकुलेट करके बता सकते हैं कि अगर आप अगले 20 साल तक एक निश्चित अकाउंट स्‍कीम में इन्‍वेस्‍ट करेंगे तो आपको मंथली पेंशन कितनी मिलेगी।
 
 
सवाल- ईपीएफओ का करेंट इन्‍वेस्‍टमेंट पैटर्न आपको स्‍टॉक मार्केट में 15 फीसदी निवेश की इजाजत देता है। फिर आप इसे लागू क्‍यों नहीं कर पा रहे हैं?
 
जवाब- सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्‍टी ने फैसला किया है कि स्‍टॉक मार्केट में 5 फीसदी निवेश किया जाएगा। अब इसे बढ़ाने पर फैसला भी सीबीटी को करना है। जहां तक रिस्‍क की बात है तो हर इन्‍वेस्‍टमेंट में रिस्‍क है कम या ज्‍यादा की बात अलग है। किसी कंपनी के बांड में इन्‍वेस्‍टमेंट में भी रिस्‍क है। ईपीएफओ ट्रेडिशनली लो रिस्‍क वाले इंसट्रूूमेंट में इन्‍वेस्‍ट करता रहा है और अभी भी हमारी एप्रोच लो रिस्‍क वाली है। 
 
आगे की स्‍लाइड में जानिए युवाओं को लेकर ईपीएफओ की रणनीति....................
 

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY