Home »Personal Finance »Financial Planning »Update» HSBC Has Done Global Survey In 17 Countries Including India

47% भारतीय नहीं करते रिटायरमेंट के लिए सेविंग, HSBC ने 17 देशों में किया सर्वे

नई दिल्ली। रिटायरमेंट के बाद के लिए फाइनेंश्यिल प्लानिंग करना जरूरी है। लेकिन भारत में 47 फीसदी से अधिक वर्किंग क्लास के लोग रिटायरमेंट के लिए सेविंग ही नहीं कर पाते हैं। एचएसबीसी द्वारा किए एक सर्वे में भारतीय रिटायरमेंट के लिए सेविंग करने में और देशों के मुकाबले काफी पीछे हैं। एचएसबीसी ने यह सर्वे 17 देशों पिछले साल में किया था। 
 
ग्लोबल एवरेज है 46 फीसदी 
   
-एचएसबीसी के लिए इप्सॉस मोरी द्वारा सितंबर-अक्टूबर 2015 के बीच ऑनलाइन सर्वे किया गया था।
-इस सर्वे को 17 देशों में किया गया था, जिसमें 18,207 लोगों ने हिस्सा लिया था।
-पूरे विश्व में 46 फीसदी लोग रिटायरमेंट के लिए सेविंग नहीं कर पाते हैं।
-जिन देशों में यह सर्वे किया गया था, उनमें ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, अर्जेंटीना, चीन, मिस्र, फ्रांस, हांगकांग, भारत, इंडोनेशिया, मलेशिया, मेक्सिको, सिंगापुर, ताइवान, यूएई, यूके और यूएसए शामिल हैंं। 
 
44 फीसदी को आती है सेविंग में दिक्कत
 
-रिपोर्ट के मुताबिक, 44 फीसदी भारतीय जो नौकरी करते हैं, रिटायरमेंट के लिए सेविंग करने में परेशानी महसूस करते हैं।
-इसके अलावा 21 फीसदी लोगों ने रिटायरमेंट के लिए अबतक सेविंग करना शुरू नहीं किया है।
-जिन लोगों की उम्र 60 साल से ऊपर है, उसमें 22 फीसदी और 50 साल पार कर चुके 14 फीसदी ने रिटायरमेंट के लिए सेविंग शुरू नहीं की है। 
 
दोस्तों और रिश्तेदारों से लेते हैं सलाह
 
-सर्वे के अनुसार, 82 फीसदी लोग अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से रिटायरमेंट के लिए सलाह या जानकारी लेते हैं।
-इसके अलावा 40 फीसदी लोग रिटायर होने से पहले और 53 फीसदी लोग रिटायर होने के बाद बैंक, इन्श्योरेंस ब्रोकर्स, फाइनेंशियल सलाहकारों से सलाह लेते हैं।

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY