Home »Market »Commodity »Metals» Zinc Price Down More Than 10 Pc In Last One Month

एक महीने में 10% से ज्यादा टूटा जिंक, कमजोर मांग से कीमतों में जारी रहेगी गिरावट

एक महीने में 10% से ज्यादा टूटा जिंक, कमजोर मांग से कीमतों में जारी रहेगी गिरावट
नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय मार्केट के साथ-साथ घरेलू बाजार में तकरीबन एक महीने में जिंक की कीमतों में 10 फीसदी से ज्यादा की गिरावट हुई है। जिंक की कीमतों में यह गिरावट डॉलर में मजबूती और प्रॉफिट बुकिंग की वजह से आई है। लंदन मेटल स्टॉक पर एक महीने में जिंक का भाव 325.50 डॉलर प्रति टन गिरा है जबकि घरेलू मार्केट में जिंक की कीमत 21 रुपए प्रति किग्रा तक कम हुई है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि मांग में कमी से जिंक की कीमतें और गिर सकती है।
 
जिंक के भाव में गिरावट की वजह-
 
- जिंक में काफी तेजी आ गई थी जिसके बाद इसमें प्रॉफिट बुकिंग हुई।
- चीन में सीपीआई के खराब आंकड़े आएं हैं जिसका असर जिंक पर पड़ा है।
- चिली में खदानों के फिर से खुलने की उम्मीदों से प्रोडक्शन में बढ़ोतरी होगी।
- घरेलू स्तर पर मांग में कमी।
- कमजोर ग्लोबल संकेतों का असर।
- इंडस्ट्री से मांग में कमी आई।
 
नागपुर के जिंक सप्लायर आशीष भारतीय ने मनीभास्कर डॉट कॉम को बताया कि जिंक का करंट भाव 225-240 रुपए किग्रा है। स्टील सेक्टर से जिंक की डिमांड मिली है।
 
डॉलर में मजबूती का असर जिंक के अलावा निकेल, लेड और एल्यूमीनियम की कीमतों पर भी हुआ। कारोबार में गुरुवार को जिंक में 1.25 फीसदी, निकेल में 0.12 फीसदी, लेड में 1.50 फीसदी और एल्युमीनियम में 0.25 फीसदी की गिरावट हुई।
 
घरेलू स्तर पर हाई से 11 फीसदी टूटा भाव
फरवरी महीने में घरेलू मार्केट में जिंक 198.60 रुपए प्रति किग्रा के हाई पर था जो 10.87 फीसदी टूटकर अब 177 रुपए प्रति किग्रा पर पहुंच गया है। केडिया कमोडिटी के डायरेटक्टर अजय केडिया के मुताबिक जिंक में यह गिरावट प्रॉफिट बुकिंग की वजह से हुई है।
 
एलएमई पर भी गिरा दाम
लंदन मेटल एक्सचेंज पर फरवरी महीने में जिंक 2980.50 डॉलर प्रति टन के उच्चतम स्तर से 325.50 डॉलर यानी 10.92 फीसदी गिरकर 2655 डॉलर प्रति टन पर पहुंच गया। एलएमई पर 28025 मेट्रिक टन का स्टॉक बढ़ा है।
 
एंजेल कमोडिटी के रिसर्च हेड अनुज गुप्ता का कहना है कि जिंक की इंस्ट्रीयल मांग में गिरावट आई है और मार्केट में अभी मांग में कोई तेजी नहीं दिख रही है। इसलिए जिंक के दाम में अभी और गिरावट होने की संभावना है।

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY