Home »Market »Commodity »Energy» Oil Supplies Fell By Around 1.5 Million Barrels Per Day Last Month

OPEC ने क्रूड प्रोडक्शन में की रिकॉर्ड कटौती, जनवरी में 15 लाख बैरल प्रति दिन घटी सप्लाई

नई दिल्ली। ओपेक देशों द्वारा क्रूड ऑयल प्रोडक्शन में कटौती के बाद इंटरनेशनल मार्केट में इसकी डिमांड तेजी से बढ़ी है। इंटरनेशन एनर्जी एजेंसी (IEA) का कहना है कि एग्रीमेंट के तहत जनवरी में ओपेक देशों ने 90 फीसदी की दर से प्रोडक्शन कट का टारगेट पूरा कि‍या है। यहां तक कि सउदी अरब ने अपने टारगेट से भी ज्यादा प्रोडक्शन घटा दिया है। आईईए का कहना है कि अगर ओपेक देशों ने इसी तरह प्रोडक्शन में कटौती जारी रखी तो इस साल के फर्स्ट हॉफ तक वर्ल्ड ऑयल इन्वेंट्रीज 6 लाख बैरल प्रति दिन के हिसाब से खाली होंगी। IEA के बयान के बाद शुक्रवार को इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड की कीमतों में 1 फीसदी की तेजी दर्ज की गई। क्रूड के भाव 56 डॉलर प्रति बैरल के पार चले गए। 
 
सप्लाई 15 लाख बैरल प्रति दिन घटा  
आईईए का कहना है कि प्रोडक्शन कम होने से जनवरी में ऑयल सप्लाई में 15 लाख बैरल प्रति दिन की कमी आई है। इससे इंटरनेशन मार्केट में क्रूड की डिमांड स्ट्रॉन्ग हुई है। आईईए ने 2017 के डिमांड आउटलुक भी 14 लाख बैरल प्रति दिन बढ़ा दिया है। आईईए का कहना है कि जनवरी में ओपेक देशों ने रिाकॉर्ड लेवल पर कटौती की है। इसके पहले इतनी बड़ी कटौती नहीं हुई थी। कुवैत, सउदी अरब, कतर और अंगोला ने टारगेट से ज्यादा प्रोडक्शन घटाया है।
 
ओपेक व नॉन-ओपेक देशों में बनी थी सहमति
बता दें कि सरप्लस प्रोडक्शन से इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड की कीमतें तेजी से नीचे आने के बाद ओपेक और नॉन ओपेक देशों में प्रोडक्शन घटाने को लेकर सहमति बनी थी। कीमतें कम होने से आयल एक्सपोर्टर देशों की इकोनॉमी पर असर पड़ा था। ओपेक देशों ने जनवरी से प्रोडक्शन घटाना शुरू किया, जिसके बाद क्रूड की कीमतों में 20 फीसदी तक रैली देखी गई है। एग्रीमेंट के हिसाब से ओपेक देशों को जनवरी से प्रोडक्शन में रोज 12 लाख बैरल की कटौती करनी है। गैर ओपेक देश भी अपना प्रोडक्शन 5.58 लाख बैरल प्रतिदिन घटाएंगे।
 
आउटसाइड ओपेक बढ़ेगी सप्लाई
आईए का कहना है कि आउटसाइड ओपेक ऑयल सप्लाई की बात करें तो इस साल यह 4 लाख बैरल प्रति दिन के हिसाब से बढ़ेगा। ऐसा ब्राजील, अमेरिका और कनाडा जैसे देशों में प्रोडक्शन बढ़ने की वजह से होगा। 2017 में नॉन-ओपेक देशों द्वारा 5.8 करोड़ बैरल प्रति दिन के हिसाब से प्रोडक्शन होगा, जो पिछले महीने के अनुमान से 1 लाख बैरल प्रति दिन ज्यादा हे। 

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY