Home »Industry »Textile» The Centre Also Imposes Higher Custom Duty On Import Of Granite And Marble

गारमेंट सेक्टर में बढ़ेगी नौकरियां, टैक्स इन्सेंटिव देने वाला बिल लोकसभा में पास

गारमेंट सेक्टर में बढ़ेगी नौकरियां, टैक्स इन्सेंटिव देने वाला बिल लोकसभा में पास
नई दिल्ली। गारमेंट सेक्टर को टैक्स इन्सेंटिव देने और मार्बल, ग्रेनाइट पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाने के लिए लोकसभा ने एक बिल को पास कर दिया। इस बिल के पास होने से जहां एक तरफ गारमेंट सेक्टर में नौकरियां बढ़ेगी, वहीं दूसरी तरफ डॉमेस्टिक इंडस्ट्री को भी कस्टम ड्यूटी बढ़ने से फायदा मिलेगा।
 
डीमर्जर को मिली नई डेफिनेशन
 
टैक्सेशन लॉ अमेंडमेंट बिल 2016 में डीमर्जर की नई डेफिनेशन दी गई है। इस नई डेफिनेशन के शामिल होने से पब्लिक सेक्टर कंपनियों को तोड़ना या फिर रिकंस्ट्रकशन करना आसान हो जाएगा। इसके साथ ही सरकार आसानी से किसी भी कंपनी के शेयर ट्रांसफर कर सकेगी जिसका उसने प्राइवेटाईजेशन किया है। इससे सरकार को 14 साल पहले प्राइवेटाइज किए गए वीएसएनएल की जमीन का प्रयोग करने में आसानी होगी।
 
वॉयस वोट से पास हुए तीन अमेंडमेंट
 
इस बिल में सरकार की तरफ से तीन अमेंडमेंट पेश किए गए थे, जिनको लोकसभा ने थोड़ी सी चर्चा के बाद वॉयस वोट से पास कर दिया। इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80जेजेएए को अमेंड किया गया है, जिससे गारमेंट सेक्टर को टैक्स इन्सेंटिव मिल सकेंगे। इस अमेंडमेंट के साथ ही कोई भी कंपनी 150 दिनों तक किसी कर्मचारी को रख सकेगी। पहले यह समय सीमा 240 दिनों की थी। फाइनेंस मिनिस्टर अरूण जेटली ने कहा कि मार्बल और ग्रेनाइट इंडस्ट्री को बढ़ावा देने के लिए और उन्हें विदेशी इंपोर्ट से बचाने के लिए कस्टम ड्यूटी को 40 फीसदी तक का निर्णय लिया गया है।    

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY