Home »Industry »Startups» These Young Entrepreneurs Paid 1 Lakh Dollar For College Drop Out

इन 5 लोगों को कॉलेज छोड़ने के लि‍ए मि‍ले थे 1 लाख डॉलर, बने सफल बि‍जनेसमैन

 
नई दि‍ल्‍ली। साल 2011 में इन्‍वेस्‍टर, एंत्रप्रेन्‍योर और ट्रम्‍प के एडवाइर पीटर थेल ने एक प्रोग्राम लॉन्‍च कि‍या था। यह प्रोग्राम उन यंग एंत्रप्रेन्‍योर्स के लि‍ए था जो अपना कॉलेज छोड़ने के लि‍ए तैयार थे और अपने नए आइडि‍या को असल बि‍जनेस में बदलना चाहते थे। इसके लि‍ए थेल की ओर से 1 लाख डॉलर भी दि‍ए जा रहे थे। अपने आइडि‍या को कामयाब बनाने के लि‍ए दर्जन भर टेक स्‍टार्टअप्‍स ने इस प्रोग्राम को चुना। इसमें से कुछ ऐसे भी रहे जो दो साल मेहनत करने के बाद दोबारा कॉलेज लौट गए। लेकि‍न कुछ ऐसे थे जि‍नकी कि‍स्‍मत इस प्रोग्राम के बाद बदल गई और उन्‍होंने लाखों डॉलर वाली कंपनि‍यां खड़ी की दीं।
 
एरी वेइनटेन और कोनराड करामर
 
थेल फेलोशि‍प ने एमआईटी ड्रॉपआउट एरि‍ वेइनटेन और हाई स्‍कूल स्‍टूडेंट कोनराड करामर को चुना। दोनों ने दो प्रोडक्‍टि‍व ऐप्‍स पर काम कि‍या जि‍समें से एक कामयाब हो गया। साल 2014 में आईफोन ऐप में सबसे ज्‍यादा खरीदा गया ऐप रहा। साल 2015 में दोनों को एप्‍पल ने मोस्‍ट इनोवेशन ऐप ऑफ द ईयर का अवॉर्ड भी दि‍या। उन्‍होंने वर्कफ्लो नाम से ऐप बनाया जो मल्‍टीपल ऐप्‍स को एक में शामि‍ल कर देता है। यूजर्स ऐप को छोड़े बि‍ना फेसबुक पर इमेल पोस्‍ट करने, डायरेक्‍शन हासि‍ल करने, फूड ऑर्डर करने के अलावा कई चीजें कर सकता है। यह स्‍टार्टअप आज भी काम करना है। इनके पास 8 कर्मचारी भी हैं।
 
अगली स्‍लाइड में – दूसरा यंग एंत्रप्रेन्‍योर...

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY