Home »Industry »Manufacturing» Demonetisation To Impact Small Firms, Rural Demand: Tata Steel

नोट बैन के फैसले से ग्रामीण क्षेत्र में स्‍टील डिमांड हुई प्रभावित:टाटा स्‍टील

नोट बैन के फैसले से ग्रामीण क्षेत्र में स्‍टील डिमांड हुई प्रभावित:टाटा स्‍टील
 
नई दिल्‍ली।देश की प्रमुख स्‍टील कंपनी टाटा स्‍टील का कहना है कि सरकार के नोट बंदी के फैसले से सेकेंडरी स्‍टील सेक्‍टर प्रभावित होगा। इसमें कैश आधारित छोटी मिलें और रोलर फैक्‍टरी के संचालन पर भी प्रभाव पड़ रहा है। टाटा स्‍टील के अनुसार इसका सबसे बड़ा प्रभाव ग्रामीण मांग पर पड़ा है।
 
ग्रामीण क्षेत्रों में स्‍टील की मांग पर प्रभाव
दुनिया की 10 सबसे बड़ी स्‍टील कंपनियों में से एक टाटा स्‍टील  का कहना है बड़े नोट बंद होने से करंसी क्राइसेस की स्थिति उत्‍पन्‍न हुई है। इससे ग्रामीण क्षेत्रों में स्‍टील की डिमांड प्रभावित हो रही है। कंपनी के अनुसार ग्रामीण क्षेत्रों में सारा काम कैश आधारित ही होता है। इंडस्‍ट्री सेकेंडरी सेक्‍टर जो कि लगभग 60 से 70 फीसदी के करीब उस पर नजर बनाए हुए है।
 
बदल रहा है इंडस्‍ट्री का रुख
टाटा स्‍टील के साउथ ईस्‍ट एशिया मैनेजिंग डायरेक्‍टर टीवी नरेंद्रन ने बताया कि मार्केट इंटीग्रेटेड सेक्‍टर की तरफ जा रहा था। इसका कारण है कि टाटा स्‍टील, जेएसडब्‍ल्‍यू स्‍टील, आरआईएनएल और जेएसपीएल सभी ने लॉन्‍ग प्रोडक्‍ट्स बढ़ाने में लगे थे। सभी का ध्‍यान अब ग्रामीण क्षेत्रों की मांग पर भी बना हुआ था। इसलिए, अगर यह निर्णय आया भी नहीं होता तो भी ये इंडस्‍ट्री ग्रामीण क्षेत्रों की ओर रुख कर रही थीं।  

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY