Home »Industry »Manufacturing» Manufacturing PMI Improves For 2nd Straight Month In Feb

मैन्‍युफैक्‍चरिंग पीएमआई में लगातार दूसरे महीने आया सुधार, लौटी एक्‍सपोर्ट डि‍मांड

मैन्‍युफैक्‍चरिंग पीएमआई में लगातार दूसरे महीने आया सुधार, लौटी एक्‍सपोर्ट डि‍मांड
  
नई दि‍ल्‍ली। भारतीय मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर फरवरी में लगातार दूसरे माह भी पॉजि‍टि‍व में रहा है। नि‍क्‍कई मार्कि‍ट इंडि‍या मैन्‍युफैक्‍चरिंग पर्चेजिंग मैनेंजर्स के इंडेक्‍स (पीएमआई) के मंथली सर्वे के मुताबि‍क फरवरी 2017 में एक्‍सपोर्ट डि‍मांड वापस लौटने से इस सेक्‍टर में हलका सुधार दर्ज कि‍या गया है। सर्वे के मुताबि‍क, मैन्‍युफैक्‍चरिंग पीएमआई फरवरी माह में 50.7 पर पहुंच गया जबकि‍ जनवरी में यह आंकड़ा 50.4 पर था।
 
प्रोडक्‍शन और ऑर्डरबुक्‍स में इजाफा
 
आईएचएस मार्कि‍ट के इकोनॉमि‍स्‍ट पालीयाना डे लि‍मा ने कहा कि‍ भारतीय मैन्‍युफैक्‍चरर्स को डि‍मांड में आई रि‍कवरी और प्रोडक्‍शन वॉल्‍यूम बढ़ने का फायदा मि‍ला है। इसके अलावा, ऑर्डरबुक्‍स में भी इजाफा दर्ज कि‍या गया है।
 
कीमत बढ़ने से बड़ी कॉस्‍ट
 
सर्वे में कहा गया कि‍ कीमतों को देखें तो इनपुट और आउटलुट कीमत फरवरी में बढ़ी है। लि‍मा ने कहा कि‍ कमोडि‍टी की कीमतों की वजह से मैन्‍युफैक्‍चरर्स को बढ़ती कॉस्‍ट का सामना करना पड़ा है। फरवरी में इंफ्लेशन की दर में तेजी से इजाफा दर्ज कि‍या गया है। इसकी वजह से फैक्‍ट्री चार्जेज बढ़ गए हैं। रिपोर्ट में कहा गया कि‍ अक्‍टूबर 2013 के बाद से इंफ्लेशन में तेजी देखने को मि‍ली है।
 
नोटबंदी के बाद लगातार दूसरे माह सुधार
 
दि‍संबर 2016 को खत्‍म हुई नोटबंदी के बाद फरवरी में लगातार दूसरे माह मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर में सुधार आया है। 50 से ऊपर के आंकड़े का मतलब उस सेक्‍टर का वि‍स्‍तार हो रहा है। हालांकि‍, ताजा अनुमान लंबी अवधि‍ के सीरि‍ज एवरेज (54.2) से काफी कमजोर है।

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY