Home »Industry »IT-Telecom» Idea Board Ok With Vodafone Merger; Combined Entity To Be Biggest Telecom Operator

Idea और Vodafone के मर्जर का एलान, बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलि‍कॉम कंपनी

नई दि‍ल्‍ली.   टेलि‍कॉम ऑपरेटर आइडि‍या के बोर्ड ने वोडाफोन के साथ मर्जर को मंजूरी दे दी है। आइडि‍या ने कहा है कि‍ नई कंपनी में वोडाफोन के पास 45% हि‍स्‍सेदारी होगी। वहीं, आइडि‍या के पास 26% हि‍स्‍सेदारी होगी। आइडि‍या ने यह भी कहा है कि‍ वोडाफोन करीब 4.9% हि‍स्‍सेदारी आइडि‍या प्रमोटर्स को ट्रांसफर करेगी। आगे चलकर नई कंपनी में दोनों की हिस्सेदारी बराबर हो जाएगी। माना जा रहा है कि‍ यह टेलि‍कॉम इंडस्‍ट्री की सबसे बड़ी डील है। मर्जर के बाद बनने वाली नई कंपनी टेलिकॉम सेक्टर में देश की सबसे बड़ी कंपनी होगी, जिसके करीब 38 करोड़ कस्टमर्स होंगे। कुमार मंगलम बिड़ला होंगे नई कंपनी के चेयरमैन...
 
-आइडि‍या-वोडाफोन के मर्जर से बनने वाली नई कंपनी के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला होंगे। नई कंपनी का सीएफओ वोडाफोन अप्वाइंट करेगी।
- दोनों कंपनियों के प्रमुखों ने कहा कि एक निश्चित समय के बाद वोडाफोन और आइडिया दोनों के पास नई कंपनी की बराबर हिस्सेदारी होगी।
 
क्या बोले कुमार मंगलम?
-इस मौके पर बिड़ला ने कहा, ‘वोडाफोन के साथ समान हिस्सेदारी वाले पार्टनर के तौर पर साझेदारी का फैसला किया गया है। वोडाफोन इंडिया के साथ आइडिया के मर्जर के लिए एग्रीमेंट हो गया।’
-‘टेलिकॉम सेक्टर के नए युग का आधार मोबाइल ब्रॉडबैंड इन्फ्रा होगा। इस डील से भारत में 4G और 5G सर्विस और बेहतर होगी।’
- वोडाफोन के सीईओ ने कहा कि इससे भारतीय इम्प्लॉइज के लिए ज्यादा पेशेवर मौके तैयार होंगे।
 
आइडि‍या-वोडाफोन मर्जर की खास बातें
1# आइडि‍या प्रमोटर्स के पास एडिशनल 9.5% हि‍स्‍सेदारी लेने का अधि‍कार है। प्रमोटर्स 130 रुपए प्रति‍ शेयर के हि‍साब से हि‍स्‍सेदारी ले सकते हैं।
2# चेयरमैन अप्वाइंट करने का अधि‍कार केवल आइडि‍या के प्रमोटर्स के पास है। वोडाफोन के पास नई कंपनी के सीएफओ को अप्वाइंट करने का अधि‍कार है।
3# मर्जर हुई कंपनी में वोडाफोन 50% हि‍स्‍सेदारी ट्रांसफर करेगी। मर्जर से पहले दोनों कंपनि‍यां स्‍टैंडअलोन टावर्स को बेचेंगी।
4# डील से पहले आइडि‍या अपनी इंडस में मौजूद 11.15 फीसदी हि‍स्‍सेदारी को बेचकर कर्ज कम करेगी।
5#  डील से वोडाफोन ग्रुप का नेट डेट 8.2 अरब डॉलर तक कम होगा।
6# आइडि‍या-वोडाफोन की डील 72 रुपए प्रति‍ शेयर के हि‍साब से पूरी होगी।
8# यह डील 2018 तक पूरी होने की उम्‍मीद है।
9# मर्जर कंपनी के बोर्ड में कुल 12 डायरेक्‍टर्स होंगे। दोनों कंपनि‍यों के 3-3 डायरेक्‍टर्स होंगे। नई कंपनी के बोर्ड में 6 इंडि‍पेंडेंट डायरेक्‍टर्स होंगे।
 
मर्जर के बाद इंडिया में 35होगा मार्केट शेयर
- कुमार मंगलम बोले कि इस डील के सफल होने पर मर्जर के बाद बनने वाली कंपनी टेलिकॉम सेक्टर में भारत की सबसे बड़ी कंपनी होगी, जिसका मार्केट शेयर 35% और सब्सक्राइबर बेस 40 करोड़ होगा।
- वहीं, इंडि‍या रेटिंग की रिपोर्ट में बताया गया है कि वोडाफोन और आइडिया के मर्जर से बनने वाली कंपनी का रेवेन्यू 77,500 करोड़ से 80,000 करोड़ रुपए होगा।
- 7 सर्कल्स में वोडाफोन इंडिया के स्पेक्ट्रम और आइडिया के 2 स्पेक्ट्रम, जिनका परमिट 2021-22 में खत्म हो रहा है, उनकी कम्बाइंड वैल्यू पिछली नीलामी की कीमत के हिसाब से 12,000 करोड़ रुपए है।
 
कैसे बनेगी सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी?
 
1. रेवेन्यू:  अगर वोडाफोन और आइडिया का मर्जर होता है तो यह 80 हजार करोड़ रुपए के रेवेन्यू वाली भारत की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी बन जाएगी।
 
2. सब्सक्राइबर्स:  मर्जर के बाद कंपनी सब्सक्राइबर्स के आधार पर भी भारत की सबसे बड़ी कंपनी होगी। यह मार्केट लीडर भारती एयरटेल व रिलायंस जियो को भी पीछे छोड़ देगी। वोडाफोन इंडिया 20.46 करोड़ कस्टमर्स के साथ दूसरी और आइडिया सेल्युलर 19.05 करोड़ कस्टमर्स के साथ तीसरी सबसे बड़ी कंपनी है। दोनों के मिलाकर 40 करोड़ सब्सक्राइबर्स हो जाएंगे। अभी देश में एयरटेल 26.34 करोड़ कस्टमर्स के साथ देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम सर्विस प्रोवाइडर है।
 
3. सबसे बड़ी हिस्सेदारी: सीएलएसए की एक रिपोर्ट के मुताबिक वोडाफोन-आइडिया को मिलाकर बनने वाली नई कंपनी के पास 2018-19 तक मोबाइल मार्केट की 43% हिस्सेदारी होगी, जिससे यह पहले नंबर पर होगी। दूसरे नंबर पर भारती एयरटेल के पास 33% और रिलायंस जियो की 13% हिस्सेदारी रहेगी।

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY