Home »Industry »IT-Telecom» Bernstein Report Says Jio Customers To Remain Loyal Even With Paid Services

फ्री ऑफर के बाद भी Jio से शि‍फ्ट नहीं होंगे कस्‍टमर्स, वोडाफोन-आइडि‍या के लि‍ए चैलेंज: रि‍पोर्ट

 
नई दि‍ल्‍ली। 1 अप्रैल 2017 से रि‍लायंस जि‍यो की सर्वि‍सेज के लि‍ए पैसे देने पड़ेंगे। ऐसे में कुछ लोगों का मानना है कि‍ कई कस्‍टमर्स जि‍यो से बाहर नि‍कल सकते हैं। लेकि‍न ब्रोकरेज कंपनी बर्नस्‍टेन की ओर से कि‍या गया रि‍सर्च उसके उलट ट्रेंड बता रहा है। वॉल स्‍ट्रीट रि‍सर्च और ब्रोकरेज कंपनी बर्नस्‍टेन की रि‍पोर्ट के मुताबि‍क, ‘हमारा मानना है कि‍ कई लोग ने जि‍यो के ‘फ्री’ ऑफर को सराहा है लेकि‍न वॉयस क्‍वालि‍टी को लेकर आलोचना कर रहे हैं। कई लोग फ्री ऑफर खत्‍म होने के बाद अपने प्राइमरी ऑपरेटर के पास लौट जाएंगे। लेकि‍न जो हम देख रहे हैं वह इसके उलट है।’
 
जि‍यो के कस्‍टमर सबसे ज्‍यादा लॉयल
 
रि‍पोर्ट में कहा गया है कि‍ कस्‍टमर लॉयल्‍टी के मामले में जि‍यो का स्‍कोर सबसे ज्‍यादा है। इसमें कस्‍टमर सर्वि‍स, सहूलि‍यत, डाटा कवरेज, डाटा स्‍पीड और हैंडसेट चुनने की च्‍वाइस दूसरों से बेहतर है। इतना ही नहीं, जि‍यो ने वॉयस क्‍वालि‍टी और वॉयस कवरेज में वोडाफोन और आइडि‍या को पीछे छोड़ दि‍या है।
 
4जी लेने वाले 80 फीसदी जि‍यो लेंगे
 
रि‍पोर्ट में कहा गया है कि‍ ज्‍यादातर 2जी या 3जी यूजर्स सैंपल टेस्‍ट के बाद 4जी पर अगले साल तक अपग्रेड होंगे और उसमें से 80 फीसदी का कहना है कि‍ जब वह ऐसा करेंगे तो वह जि‍यो को पहली पंसद पर रखेंगे।  
 
जि‍यो ही क्‍यों?
 
-सर्वे में यह भी बताया कि‍ क्‍यों यूजर्स जि‍यो के साथ रहने का फैसला करेंगे और प्रति‍ माह 303 रुपए का पेमेंट करेंगे।
-मौजूदा 67 फीसदी यूजर्स ने जि‍यो सि‍म को ‘सेकंडरी’ रखा हुआ है।
-इसमें से 63 फीसदी यूजर्स ने कहा है कि‍ वह जि‍यो को नया प्राइमरी ऑपरटेर बनाने की योजना बना रहे हैं।
-28 फीसदी यूजर्स ने कहा कि‍ वह जि‍यो को सेकंड सि‍म के तौर पर यूज करते रखेंगे।  
-केवल 2 फीसदी मौजूदा जि‍यो यूजर्स ने कहा है कि‍ वह अपनी सि‍म छोड़ देंगे।
 
सर्वे में कौन शामि‍ल
 
-बर्नस्‍टेन ने कहा है कि‍ उन्‍होंने देशभर से 1,000 प्रबल हाई वैल्‍यू यूजर्स का सैंपल लि‍या है।
-रि‍पोर्ट में यह भी कहा गया कि‍ जवाब देने वाले 40 फीसदी लोग मेट्रो सर्कि‍ल्‍स के हैं।
-30 फीसदी ए-सर्कि‍ल्‍स, 20 फीसदी बी-सर्कि‍ल्‍स और 10 फीसदी सी-सर्कि‍ल्‍स के हैं।
-95 फीसदी अर्बन एरि‍या में रहते हैं और मात्र 5 फीसदी रूरल एरि‍या में रहने वाले हैं।  

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY