Home »Industry »Companies» Anil Agrawal Used To Work As Scrap Dealer, Now He Is Named As Metal Mughal Of India

लाइन में खड़े होकर लिया था 50 हजार का लोन, आज 13 हजार करोड़ के मालिक

नई दिल्‍ली। एक सफल बिजनेसमैन बनने के लिए एमबीए की डिग्री नहीं, बल्कि आपको अपनी गलतियों से सीखना आना चाहिए। महज10वीं पास वेदांता रिसोर्सेज के फाउंडर अनिल अग्रवाल का सक्‍सेस के लिए यही मंत्र है। पटना में जन्‍मे अनिल ने सिर्फ 19 साल की उम्र में मुंबई का रुख किया और यहां स्‍क्रैप डीलर के तौर पर काम शुरू किया। दूसरे राज्‍यों से कबाड़ इकट्ठा करने का काम करते-करते अनिल ने वेदांता रिसोर्सेज कंपनी की नींव रखी।
 
आज उनका कारोबार ब्रिटेन समेत कई देशों में फैला हुआ है। उन्‍हें भारत के मेटल मुगल की उपाधि भी हासिल हो चुकी है। 10वीं पास एक शख्‍स के मेटल मुगल बनने की कहानी पटना के एक मिडिल क्‍लास परिवार से शुरू होती है।
 
आगे जानिए – अनिल अग्रवाल कैसे बने भारत के मेटल मुगल। इसके साथ ही जानिए कैसे उन्‍होंने स्‍क्रैप डीलर से सबसे सफल एंटरप्रेन्‍योर बनने का सफर तय किया। 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY