Home »Industry »Companies» Gautam Adani Hopeful Of Starting Work On USD 22 Billion Australian Coal Mine Project By August

ऑस्‍ट्रेलिया में अगस्‍त तक शुरू हो सकता है कोल माइन प्रोजेक्‍ट, अडानी ग्रुप को क्वींसलैंड का मिला सहयोग

ऑस्‍ट्रेलिया में अगस्‍त तक शुरू हो सकता है कोल माइन प्रोजेक्‍ट, अडानी ग्रुप को क्वींसलैंड का मिला सहयोग
नई दिल्‍ली।  ऑस्‍ट्रेलिया में विरोध का सामना कर रहे अडानी ग्रुप के कोल माइन प्रोजेक्‍ट को क्‍वींसलैंड प्रांत की सरकार का सहयोग मिल चुका है। इसके बाद ग्रुप के प्रमुख गौतम अडानी ने उम्‍मीद जताई है कि 2200 करोड़ डॉलर के इस प्रोजेक्‍ट पर अगस्‍त से काम शुरू हो जाएगा।
 
मई-जून तक फेडरल गवर्नमेंट से अप्रूवल मिलने की उम्‍मीद
 
गौतम अडानी ने कहा कि हमें उम्‍मीद है कि मई-जून से तक हमें आखिरी फेडरल अप्रूवल मिल जाएगा। इसके बाद प्रोजेक्‍ट पर काम शुरू करने के लिए हमें सिर्फ 3 महीने लगेंगे। इसको देखते हुए हमें उम्‍मीद है कि अगस्‍त तक इस पर काम शुरू हो जाएगा। उन्‍होंने कहा कि 2020 तक पहला कोल इस प्रोजेक्‍ट से हासिल हो सकता है। अडानी ने बताया कि कंपनी ने इस प्रोजेक्‍ट से 4 करोड़ टन सालाना कोल प्रोडक्‍शन का लक्ष्‍य रखा था, जिसे अब 2.5 करोड़ टन सालाना कर दिया गया है।
 
क्‍वींसलैंड की तरफ से सारे अप्रूवल मिले  
 
इसी बीच, क्‍वींसलैंड की प्रीमियर अनास्टिसिया पलास्‍जुक ने कहा कि यहां लगने वाले ग्रुप के कोल माइन प्रोजेक्‍ट के लिए उनकी सरकार की तरफ से अब कोई अप्रूवल पेंडिंग नहीं है। उन्‍होंने बताया कि अब सिर्फ कुछ अप्रूवल फेडरल गवर्नमेंट के पास पेंडिंग पड़े हुए हैं। उन्‍होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि अब प्रोजेक्‍ट को अप्रूवल मिलने में कोई परेशानी पेश आएगी। सेंट्रल गवर्नमेंट के पास जो अप्रूवल पेंडिंग पड़े हैं, उनके साथ एनवायरनमेंटल कंडीशंस को भी अटैच किया गया है।
 
क्‍वींसलैंड अथॉरिटी की शर्तें मानने को ग्रुप तैयार 
 
इससे पहले, शुक्रवार को क्‍वींसलैंड का प्रतिनिधिमंडल मुंद्रा पोर्ट पहुंचा था। अडानी ग्रुप ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर बताया कि ग्रुप इस प्रोजेक्‍ट के लिए क्‍वींसलैंड की एनवायरनमेंट अथॉरिटी की तरफ से जारी नियम व शर्तों को मानने के लिए तैयार है। ग्रुप गैलिली बेसिन में अपना प्रोजेक्‍ट लगाने की तैयारी कर रहा है। पिछले साल क्‍वींसलैंड के एनवायरनमेंट एंड हेरीटेज प्रोटेक्‍शन (ईएचपी) डिपार्टमेंट ने फाइनल एनवायरनमेंट अथॉरिटी (ईए) जारी किया था। ग्रुप ने कहा कि हम सभी शर्तों को मानने के लिए तैयार हैं। इसके साथ यह भी भरोसा दिलाते हैं कि इसकी वजह से पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा। ग्रुप की तरफ से बताया गया कि क्‍वींसलैंड के प्रतिनिधिमंडल ने  मुंद्रा पोर्ट का दौरा किया।
 
 
क्‍वींसलैंड को अडानी ग्रुप के प्रोजेक्‍ट पर भरोसा
 
अडानी ग्रुप की तरफ से जारी स्‍टटमेंट के मुताबिक अनास्टिसिया पलास्‍जुक ने मुंद्रा पोर्ट आने पर खुशी जताई। उन्‍होंने पोर्ट में लगे सोलर प्‍लांट और ग्रुप के इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर की प्रशंसा की। उन्‍होंने कहा कि उनका मुंद्रा दौरा इस बात का सबूत है कि क्‍वींसलैंड अडानी के प्रोजेक्‍ट पर भरोसा जताता है। हमें भरोसा है कि ग्रुप क्‍वींसलैंड में रोजगार पैदा करेगा। इसके साथ ही यह भारतीय इकोनॉमी के ग्रोथ में भी मदद करेगा। उन्‍होंने बताया कि क्‍वींसलैंड अडानी के सोलर प्रोजेक्‍ट का भी हिस्‍सा बनेगा।
 
रोजगार बढ़ाने में मदद करेगा ये प्रोजेक्‍ट
 
अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने कहा कि हमारे माइनिंग प्रोजेक्‍ट आर्थिक समृद्धि लाने का काम करेंगे। इसके अलावा ये प्रोजेक्‍ट क्‍वींसलैंड के लिए हजारों रोजगार भी पैदा करेगा। साथ ही यह अंधेरे में रहने को मजबूत लाखों भारतीयों को भी बिजली प्रदान करेगा।

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY