Home »Industry »Auto» Two Wheelers Companies May Hike Price From 1 April 2017 After New Norms

एक अप्रैल से 5000 रुपए तक महंगे हो जाएंगी बाइक्‍स-स्‍कूटर्स, कंपनियां बढ़ाएंगी दाम

 
नई दि‍ल्‍ली। 1 अप्रैल 2017 से टू-व्‍हीलर कंपनि‍यां अपने स्‍कूटर और मोटरसाइकि‍ल की कीमतों में इजाफा करने जा रही हैं। कंपनि‍यों के मुताबि‍क, वि‍भि‍न्‍न इंजन वाले मॉडल्‍स के हि‍साब से 5,000 रुपए तक कीमतों में इजाफा होगा। ऐसा इसलि‍ए क्‍योंकि‍ 1 अप्रैल 2017 से ऑटोमोबाइल इंडस्‍ट्री में बीएस-4 एमि‍शन नॉर्म्‍स लागू हो जाएंगे। नए नॉर्म्‍स के साथ बनने वाले मॉडल्‍स की कॉस्‍ट ज्‍यादा है जि‍सका बोझ कंपनियां कस्‍टमर्स पर डालेंगी।
 
कीमत बढ़ाने की भी तैयारी
 
बीएस-4 नॉर्म्‍स लागू होने के साथ-साथ कंपनियों की ओर से नए मॉडल्‍स के दामों में इजाफा भी कि‍या जाएगा। हीरो मोटोकार्प के स्‍पोक्‍सपर्सन ने कहा कि‍ ज्‍यादातर मॉडल्‍स बीएस-4 पर शि‍फ्ट हो गए हैं और बीएस-4 वाले मॉडल्‍स का प्रोडक्‍शन शुरू कर दि‍या गया है। उन्‍होंने बताया कि‍ बीएस-4 नॉर्म्‍स वाले स्‍कूटर्स और मोटरसाइकि‍ल्‍स की कीमतों में 1500 रुपए तक का इजाफा हो सकता है।
 
वहीं, बजाज ऑटो ने कहा है कि‍ इसी माह बाइक्‍स की कीमतों में इजाफा करने के लि‍ए कहा है। कीमतों में बढ़ोतरी इनपुट कॉस्‍ट ज्‍यादा होने और पूरी पोर्टफोलि‍यो को बीएस-4 एमि‍शन लेवल पर लेकर जाने की वजह से होगी। कीमतों में ज्‍यादा मॉडल्‍स के हि‍साब से 5,000 रुपए तक रह सकता है।
 
अब भी डीलर्स के पास इन्‍वेंटरी ज्‍यादा
 
ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसि‍एशन के सेक्रेटरी जनरल गुलशन अहुजा ने moneybhaskar.com को बताया कि‍ बीएस-4 नॉर्म्‍स का दबाव टू-व्‍हीलर कंपनि‍यों पर भी है। सभी व्‍हीकल मैन्‍युफैक्‍चरर्स चार हफ्जे की स्‍टैंडर्ड इन्‍वेंटरी रखते हैं लेकि‍न सेल कम होने की वजह से यह इन्‍वेंटरी पांच हफ्ते की हो गई है।
 
इंडस्‍ट्री का क्‍या है कहना
 
सोसाइटी ऑफ इंडि‍यन ऑटोमोबाइल मैन्‍युफैक्‍चरर्स के डीजी वि‍ष्‍णु माथुर ने moneybhaskar.com को बताया कि‍ हम कि‍सी से भी नॉर्म्‍स में नरमी नहीं चाहते। इंडस्‍ट्री 1 अप्रैल 2017 की तय समयसीमा पर बीएस-4 पर शि‍फ्ट हाने के लि‍ए तैयार है। इंडस्‍ट्री को 1 अप्रैल के बाद से अनसोल्‍ड स्‍टॉक्‍स को बेचने की मंजूरी मि‍लनी चाहि‍ए।
 
अप्रैल तक 8.9 लाख व्‍हीकल्‍स की इन्‍वेंटरी की उम्‍मीद
 
सोसाइटी ऑफ इंडि‍या ऑटोमोबाइल मैन्‍युफैक्‍चरर्स (सि‍आम) ने दावा कि‍या है कि‍ 1 अप्रैल 2017 तक 7.5 लाख टू-व्‍हीलर्स, 75 हजार कमर्शि‍यल व्‍हीकल्‍स, 45 हजार थ्री व्‍हीलर्स और 20 हजार पैसेंजर व्‍हीकल्‍स की पेंडिंग इन्‍वेंटरी रहने की उम्‍मीद है।
 
कब-कब बदले नॉर्म्‍स
 
साल
एमि‍शन नॉर्म्‍स
1991
मास एमि‍शन स्‍टैंडर्ड
1996
रीवाइज्‍ड नॉर्म्‍स
2000
बीएस 1
2005
बीएस 2
2010
बीएस 3
2017
बीएस 4
 

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY